• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Tejas Jets 48,000 Crore Deal: पीएम मोदी की अध्यक्षता में तेजस की 48000 करोड़ की डील को CCS की मंजूरी

|

नई दिल्ली। Tejas Jets 48,000 Crore Deal, पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi) की अध्यक्षता वाली कैबि‍नेट कमेटी ऑफ सिक्‍योरिटी (CCS) ने बुधवार को भारतीय वायुसेना के बेड़े के स्वदेशी फाइटर जेट हल्के तेजस (Tejas Jets) को मजबूत करने के लिए लगभग 48,000 करोड़ रुपये के सबसे बड़े स्वदेशी रक्षा खरीद सौदे को मंजूरी दे दी।

Tejas Jets 48,000 Crore Deal HAL Indian Air Forces fleet PM modi
    Air Force को मिलेंगे 83 Tejas Aircraft, सरकार ने 48 हजार करोड़ की डील को दी मंजूरी | वनइंडिया हिंदी

    मार्च 2020 में डिफेंस एक्विजिशन काउंसिल ने 83 अडवांस्ड मार्क 1A वर्जन तेजस विमान की खरीदारी की बात पर मुहर लगाई थी। अब पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली CCS ने इस डील को फाइनल कर दिया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट लिखा कि, पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली CCS ने आज ऐतिहासिक रूप से सबसे बड़ी स्वदेशी रक्षा डील अनुमोदित कर दी है। ये डील 48 हजार करोड़ रुपए की है। इससे हमारी वायुसेना के बेड़े की ताकत स्वदेशी 'LCA तेजस' के जरिए मजबूत होगी। भारत की डिफेंस मैन्यूफैक्चरिंग के लिए ये डील गेम चेंजर साबित होगी। तेजस विमान आगामी वर्षों में भारतीय वायुसेना के लिए 'बैकबोन' साबित होने जा रहे हैं।

    सीसीएस से मुहर लगने के बाद एचएएल वर्ष 2022 तक पहले एलसीए एमके वन-ए को वायुसेना को सौंप देगा। साल 2029 तक सभी 83 विमानों को वायुसेना को सौंपने का टारगेट है। इन 83 विमानों से वायुसेना की कम से कम छह स्कॉवड्रन बन जाएंगी. एक स्कॉवड्रन में 16-18 लड़ाकू विमान होते हैं। तेजस हवा से हवा में और हवा से जमीन पर मिसाइल दाग सकता है। इसमें एंटीशिप मिसाइल, बम और रॉकेट भी लगाए जा सकते हैं। तेजस 42% कार्बन फाइबर, 43% एल्यूमीनियम एलॉय और टाइटेनियम से बनाया गया है।

    तेजस बीवीआर मिसाइल से लैस होंगे यानी बियोंड विजुअल रेंज मिसाइल, जो आंखों की नजरों से दूर 40-50 किलोमीटर दूर भी टारगेट को एंगेज यानी मार गिरा सकती है। इन्हें एयर टू एयर रिफ्यूलिंग की तकनीक से लैस किया गया है. ये दोनों तकनीक मार्क-वन तेजस के 'आईओसी' वर्जन में नहीं हैं। यानी शुरूआत के 18 मार्क वन तेजस में नहीं हैं। एलसीए मार्क वन-ए में ईडब्लू यानी इलेक्ट्रोनिक वॉरफेयर सूट है, इसके जरिए अगर तेजस पर कोई मिसाइल लॉक होती है तो पॉयलट को कॉकपिट में लगे सेंसर से तुरंत पता चल जाएगा। नए तेजस में रडार वॉर्निंग सिस्टम भी होगा यानी दुश्मन के रडार की पकड़ में आते ही पायलट को अलर्ट चला जाएगा।

    श्रीनगर एयरपोर्ट पर बर्फ की चट्टान से टकराया विमान, सभी यात्री सुरक्षित

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Tejas Jets 48,000 Crore Deal HAL Indian Air Force's fleet PM modi
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X