सुप्रीम कोर्ट के 4 वरिष्ठ जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस, पढ़िए बड़ी बातें

Subscribe to Oneindia Hindi
Supreme Court Judges Press Conference: Complaint against CJI LIVE update

नई दिल्ली। भारतीय इतिहास में पहली बार सर्वोच्च चार वरिष्ठ न्यायाधीशों ने प्रेस वार्ता की। इस प्रेस वार्ता में न्यायाधीश चेलमेश्वर, न्यायाधीश जोसेफ कुरियन, न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायाधीश एम बी लोकुर मौजूद थे। इस दौरान सभी न्यायाधीशों में कई बातें रखीं। इस प्रेस वार्ता के बाद  4 वरिष्ठ नयायाधीशों का CJI के साथ मतभेद सामने आ गया।  आइए आपको उनकी प्रेस वार्ता की बड़ी बातें बताते हैं। 

भ्रष्टाचार की शिकायत नहीं सुनी

भ्रष्टाचार की शिकायत नहीं सुनी

  • न्यायाधीश चेलमेश्वर ने कहा कि चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने भ्रष्टाचार की शिकायत नहीं सुनी।
  • न्यायाधीश चेलमेश्वर ने कहा कि हम नहीं चाहते हैं कि 20 साल बाद हम पर कोई आरोप लगे।
  • न्यायाधीश चेलमेश्वर ने कहा कि जजों के बारे में CJI को शिकायत की थी।
मजबूर हो कर मीडिया के सामने आना पड़ा

मजबूर हो कर मीडिया के सामने आना पड़ा

  • न्यायाधीश चेलमेश्वर ने कहा कि चीफ जस्टिस ने हमारी बात नहीं सुनी।
  • न्यायाधीश चेलमेश्वर ने कहा कि - हम देश का कर्ज अदा कर रहे हैं। मजबूर हो कर मीडिया के सामने आना पड़ा।
  • न्यायाधीश चेलमेश्वर ने कहा कि चीफ जस्टिस पर देश फैसला करे।

अदालत की निष्ठा सवालों के घेरे में

अदालत की निष्ठा सवालों के घेरे में

  • न्यायाधीश चेलमेश्वर ने कहा कि अदालत की निष्ठा सवालों के घेरे में है।
  • न्यायाधीश चेलमेश्वर, चीफ जस्टिस के बाद दूसरे सबसे सीनियर जज हैं।
  • चीफ जस्टिस दीपक मिसरा ने नवंबर में बदल दिया था जस्टिस चमलेश्वर का फैसला।
चिट्ठी को सार्वजनिक करेंगे

चिट्ठी को सार्वजनिक करेंगे

  • चीफ जस्टिस को लिखी चिट्ठी को सार्वजनिक करेंगे
  • न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा- जस्टिस लोया के मामले का भी CJI को लिखी चिट्टी में जिक्र है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Supreme Court Judges Kurian Joseph, J.Chelameswar, Ranjan Gogoi and Madan Lokur addressed media
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.