लखवी का भतीजा है बांदीपोर में मारा गया लश्‍कर आतंकी अबू मूसा!

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

श्रीनगर। गुरुवार को एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने लश्‍कर-ए-तैयबा के आतंकी अबू मूसा को मार गिराया है। अब एजेंसियां इस बात की जांच कर रही है कि मूसा लश्‍कर में नंबर दो के आंतकीवादी जकी-उर-रहमान लखवी का भतीजा तो नहीं है।

abu-musa-terrorist-bandipore-अबू-मूसी-लखवी-लश्‍कर-आतंकी.jpg

तीन वर्षों से कश्‍मीर में था मूसा

नॉर्थ कश्‍मीर के बांदोपर जिले के हाजिन एरिया में गुरुवार को एनकाउंटर हुआ। इस एनकाउंटर में ही मूसा को मारा गया है। एजेंसियों से जुड़ा सूत्रों की मानें तो जो जानकारी एजेंसियों के पास है उसके तहत मूसा लश्‍कर के आतंकवादी लखवी का भतीजा है। हालांकि अभी इस बात की पुष्टि होनी बाकी है। मूसा काफी खतरनाक आतंकी था और उसकी मौत सुरक्षाबलों के थोड़ी राहत की बात है। मूसा बांदीपोर में लश्‍कर का ऑपरेशनल कमांडर था और कई लोगों की हत्‍या में शामिल था। एक पुलिस अधिकारी की ओर से जानकारी दी गई है कि वह कश्‍मीर में लश्‍कर के मॉड्यूल का नेता था और कई ऑपरेशंस को अंजाम दे चुका था। करीब तीन वर्षों से मूसा बांदीपोर में रह रहा था।

कौन है लखवी

लखवी लश्‍कर का ऑपरेशनल कमांडर है और हाफिज सईद के बाद दूसरे नंबर का आतंकी है। कश्‍मीर में लश्‍कर ने जो युद्ध छेड़ रखा है, लखवी उसका लीडर है। उसने अपनी कई रिश्‍तेदारों को कश्‍मीर में भेजा हुआ है। सिर्फ इतना ही नहीं लखवी अपने दोनों बेटों को भी इस लड़ाई में खो चुका है। उसके दो बेटे अबू कासिम और अबू कतील को इंडियन आर्मी ने कुछ वर्षों पहले एनकाउंटर में मार गिराया था। वह कई बार इस बात को अपनी पत्‍नी से कह चुका है कि अपने बेटों की मौत पर वह गम न करे। उसने पत्‍नी को सलाह दी कि वह उन विधवाओं के लिए कैंप चलाए जिनके पति कश्‍मीर की लड़ाई में मारे गए हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Investigations are on to find out if the terrorist slain on Wednesday at Jammu and Kashmir is the nephew of the dreaded Zaki-ur-Rehman Lakhvi.
Please Wait while comments are loading...