• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बंटवारे के समय बिछड़ गए थे भाई-बहन, 71 साल बाद एक-दूसरे के गले मिल फूट-फूटकर रोए

|

लाहौर। बंटवारे के दौरान बिछड़े भाई-बहन 71 साल बाद एक-दूसरे की शकल देख पाए। पाकिस्तान के गुरुद्वारे जनम अस्थान, ननकाना साहिब में रविवार को नजारा तब भावुक हो गया जब दशकों के बिछड़े भाई-बहन एक-दूसरे के गले मिले और सालों का दर्द बांटा। बंटवारे के समय बेंत सिंह अपने परिवार से बिछड़ गए थे और फिर हमेशा-हमेशा के लिए भारत में ही रह गए। अब पूरे 71 साल बाद वो अपनी बहनों की शकल देख पाए और उनके गले लग फूट-फूटकर रोए।

India-Pakistan

गुरदासपुर के डेरा बाबा नानक के पास पराचा गांव के रहने वाले बेंत सिंह का परिवार बंटवारे के दौरान पाकिस्तान जा रहा था, जब हिंसा के कारण वो अपने परिवार से बिछड़ गए। इसके बाद उनकी मां अल्लाह रख्खी ने किसी तरह अपने पुराने पड़ोसियों से संपर्क किया और अपने बेटे बेंत के बारे में पता लगाया। तभी से बेंत अपनी बहनों- उल्फत बीबी और मिराज बीबी से खत और फोन के जरिये संपर्क में हैं।

फ्लाइट में रोई पैसेंजर की बच्ची तो अटेंडेंट ने सब काम छोड़ कराया स्तनपान, हर कोई कर रहा तारीफ

सालों तक बहनों से सिर्फ चिट्ठी और फोन के जरिये बातचीत करने के बाद वो आखिरकार उन्हें रविवार को देख पाए। बेंत सिंह सिख जत्थे के साथ पाकिस्तान गए थे। एक्सप्रेस ट्रिब्यून से बातचीत में उल्फत बीबी ने कहा कि उन्हें अपने भाभी और भतीजे-भीतीजी से मिलने के लिए भारत जाने की अनुमति दी जाए। उल्फत और मिराज ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान से भी अपने भाई का वीजा बढ़ाने की गुजारिश की।

अनोखी है ये कहानी! बचपन में स्टेशन पर छोड़ गए थे मां-बाप, अब अनाथ बच्चों ने रचाई शादी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Sikh Brother Meets His Muslim Sisters After 71 Years, Separated During Partition.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X