• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

शिवसेना ने फिर साधा कंगना रनौत पर निशाना, कहा- 'मेंटल वूमेन को महाराष्ट्र में रहने का अधिकार नहीं'

|

नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत सुशांत सिंह राजपूत मामले से लेकर मुंबई पुलिस पर सवाल उठाने तक बेबाकी से अपनी बात रख रही हैं। बीते दिनों से शिवसेना और कंगना रनौत के बीच जुबानी जंग भी शुरू हो गई है, जो थमने का नाम नहीं ले रही। अब शिवसेना ने कंगना के पीओके वाले बयान की फिर से आलोचना की है और कंगना के लिए आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया है। सोमवार को शिवसेना ने कंगना को 'मेंटल वूमेन' कहा है। साथ ही कहा है कि उन्हें महाराष्ट्र में रहने का कोई अधिकार नहीं है।

'बिल्कुल सहन नहीं किया जाएगा'

'बिल्कुल सहन नहीं किया जाएगा'

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में कहा है कि राज्य में आगामी मानसून सत्र में विपक्ष को आउटसाइडर के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए। यहां कंगना के 'क्यों मुंबई पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर जैसी महसूस हो रही है?' वाले बयान को लेकर इशारा था। शिवसेना ने ये भी कहा कि कंगना का बयान मराठी लोगों और उन शहीद सैनिकों का अपमान है, जिन्होंने मुंबई के लिए अपना बलिदान किया। शिवसेना ने कहा, 'ये बिल्कुल सहन नहीं किया जाएगा, कि एक आउटसाइडर जिसने मुंबई में आकर सबकुछ हासिल किया, वो मुंबई का अपमान करे और यहां के बारे में गलत बोले। राज्य विधानसभा में इसकी निंदा की जानी चाहिए।'

शिवसेना बोली- 'मेंटल वूमेन'

शिवसेना बोली- 'मेंटल वूमेन'

शिवसेना ने आगे कहा, 'मेंटल वूमेन ने मुंबई और पुलिस का अपमान किया है, उसे महाराष्ट्र में रहने का कोई अधिकार नहीं है। और ये बयान पहले ही बेझिझक होकर महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने दे दिया है। इसका पालन होना चाहिए। विपक्षी दल को अनिल देशमुख और पूरी पुलिस टीम पर सत्र के दौरान विश्वास करना चाहिए।' बता दें कंगना रनौत ने मुंबई में अपनी सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की थी और कहा था कि या तो वह केंद्र सरकार से या हिमाचल प्रदेश सरकार से सुरक्षा चाहती हैं क्योंकि उन्हें माफिया से ज्यादा डर मुंबई पुलिस से लगता है।

संजय राउत ने कहा था- मुंबई ना आएं

संजय राउत ने कहा था- मुंबई ना आएं

कंगना के इस बयान पर संजय राउत ने कहा था, 'हम उनसे (कंगना) विनम्र निवेदन करते हैं कि वह मुंबई ना आएं। यह मुंबई पुलिस का अपमान करने के अलावा और कुछ नहीं है। गृह मंत्रालय को इसपर कार्रवाई करनी चाहिए।' इसपर कंगना ने कहा, 'शिवसेना नेता संजय राउत ने मुझे खुली धमकी दी है और कहा है कि मुंबई लौटकर मत आना, मुंबई की गलियों में आजादी के भित्ति चित्रों के बाद अब खुली धमकी, क्यों मुंबई पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर जैसी महसूस हो रही है?' इसके बाद महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि कंगना मुंबई पुलिस को बेवजह निशाना बना रही हैं। जिस तरह से पीओके को लेकर उन्होंने तुलना की है। उसके बाद उनको मुंबई और महाराष्ट्र में रहने का कोई हक नहीं है। बाद में संजय राउत ने एक इंटरव्यू के दौरान कंगना के लिए अपमानजनक भाषा का भी इस्तेमाल किया था। जिसका जवाब देते हुए कंगना ने एक वीडियो जारी किया।

कंगना को मिली वाई कैटिगरी की सुरक्षा

कंगना को मिली वाई कैटिगरी की सुरक्षा

फिलहाल कंगना 9 सितंबर को मुंबई आ रही हैं। कंगना के परिवार के अनुरोध पर हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा, 'कंगना रनौत के पिता ने लिखित में पुलिस से सुरक्षा की मांग की है। मैंने डीजीपी को इस बारे में कहा है। उनका मुंबई जाने का कार्यक्रम 9 सितंबर का है, उसके बारे में भी हिमाचल प्रदेश की तरफ से सुरक्षा की दृष्टि से विचार चल रहा है।' इसके बाद सूत्रों के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआई ने जानकारी दी कि कंगना रनौत को मिल रही धमकियों की वजह गृह मंत्रालय ने उन्हें वाई कैटिगरी की सुरक्षा मुहैया कराई है, हालांकि इसका आधिकारिक ऐलान नहीं किया गया है, लेकिन कंगना रनौत ने ट्वीट करके इस बात की पुष्टि की है कि उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई गई है।

मीडियाकर्मियों ने रिया चक्रवर्ती को घेरा, तापसी, स्वरा सहित कई बॉलीवुड स्टार्स ने जताई नाराजगी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
shiv sena says kangana ranaut is a mental woman no right to live in maharashtra
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X