• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर का टिकट काटने के लिए संघ ने BJP को लिखी चिट्ठी?: फ़ैक्ट चेक

By फ़ैक्ट चेक टीम, बीबीसी न्यूज़

Social Media
Getty Images
Social Media

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सह सरकार्यवाह की ओर से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को लिखा गया एक कथित पत्र सोशल मीडिया पर इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि 'संघ ने भोपाल संसदीय क्षेत्र से प्रज्ञा सिंह ठाकुर की जगह किसी अन्य प्रत्याशी को टिकट देने की सिफ़ारिश की थी'.

सोशल मीडिया पर फ़ैल रहे इस पत्र पर संघ के सह सरकार्यवाह सुरेश सोनी के हस्ताक्षर हैं और '20 अप्रैल 2019' तारीख़ लिखी हुई है. लेकिन फ़ैक्ट चेक टीम ने अपनी पड़ताल में पाया कि ये पत्र फ़र्ज़ी है.

'साध्वी' प्रज्ञा सिंह ठाकुर जो कि मालेगांव ब्लास्ट केस में आज भी अभियुक्त हैं और मेडिकल ग्राउंड पर ज़मानत मिलने के बाद चुनावी मैदान में उतरी हैं, वो ख़ुद पर लगे सभी आरोपों को ग़लत बताती रही हैं. उनका इस वायरल पत्र में ज़िक्र किया गया है.

सोशल मीडिया
SM Viral Post
सोशल मीडिया

इस फ़र्ज़ी चिट्ठी में प्रज्ञा सिंह ठाकुर के लिए लिखा है, "भोपाल की महिला प्रत्याशी के शहादत के ख़िलाफ़ अनावश्यक बयानबाज़ी करने से पुलवामा हमले से जो राजनीतिक लाभ निर्मित किया गया था, वो अब समाप्त हो चुका है. इसलिए समय रहते प्रत्याशी बदलना ही उपयुक्त होगा."

ख़ुद को राजस्थान और मध्यप्रदेश का बताने वाले बीबीसी के कुछ पाठकों ने व्हॉट्सऐप के ज़रिये बुधवार को यह चिट्ठी हमें भेजी थी और जानना चाहा था कि क्या पूर्व एटीएस चीफ़ पर दिए बयान के बाद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के ख़िलाफ़ संघ ने ऐसी कोई चिट्ठी लिखी है?

सोशल मीडिया
WhatsApp
सोशल मीडिया

'विफल प्रयास'

हमने संघ के सुरेश सोनी से इस पत्र के बारे में बात की तो उन्होंने कहा, "मुझे ये सूचना है कि मेरे नाम से एक पत्र सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा है. लेकिन मैं ये स्पष्ट कर देना चाहता हूँ कि मैंने ऐसा कोई पत्र नहीं लिखा. ये एक फ़र्ज़ी पत्र है. संघ के वरिष्ठ लोग ये जानकारी सार्वजनिक कर चुके हैं."

इस फ़र्ज़ी चिट्ठी में संघ के नेताओं और अमित शाह के बीच ग्वालियर में हुई किसी कथित बैठक का भी ज़िक्र किया गया है.

संघ के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख नरेंद्र कुमार इस चिट्ठी पर आधिकारिक बयान दे चुके हैं. उन्होंने कहा था कि 'चुनाव में लाभ लेने के लिए इस प्रकार के फ़र्ज़ी पोस्ट सोशल मीडिया के माध्यम से प्रसारित करके कुछ असामाजिक तत्व समाज को भ्रमित करने का विफल प्रयास कर रहे हैं.'

सोशल मीडिया
SM Viral Post
सोशल मीडिया

फ़र्ज़ी पत्र पहली बार नहीं

यह पहली बार नहीं है जब आरएसएस के नाम पर किसी फ़र्ज़ी चिट्ठी को सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा है.

नवंबर-दिसंबर में हुए राजस्थान और मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव के दौरान भी हमें ऐसी ही एक चिट्ठी सोशल मीडिया पर शेयर होती मिली थी जिसे हमने फ़र्ज़ी पाया था.

सोशल मीडिया
SM Viral Post
सोशल मीडिया

क़रीब दो हफ़्ते पहले भी सोशल मीडिया पर आयकर विभाग के छापों के संदर्भ में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भैयाजी जोशी के नाम से एक पत्र फैलाया जा रहा था.

इस फ़र्ज़ी पत्र पर संघ को स्पष्टीकरण जारी करना पड़ा था.

संघ के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से 10 अप्रैल को ये ट्वीट किया गया था, "भैयाजी जोशी के नाम से जो पत्र प्रसारित हो रहा है वो भ्रम फैलाने के लिए है और सत्य से परे है. इस प्रकार का कोई पत्र संघ की ओर से जारी नहीं किया गया है."

(इस लिंक पर क्लिक करके भी आप हमसे जुड़ सकते हैं)

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Sangh writes letter to BJP for cutting Sadhvi Pragya Singhs ticket Fact check
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X