• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Ramzan 2020: हुआ चांद का दीदार, कल से शुरू रोजा, जानिए रोजे के नियम

|

नई दिल्ली। रमजान के पाक महीने की शुरुआत कल से होने वाली है। 23 अप्रैल की शाम को भारत में केरल राज्य में चांद का दीदार हो गया। चांद दिखने के साथ ही कल से केरल में रमजान का पवित्र महीनेा शुरु हो गया है। कल यानी शुक्रवार को रोजे का पहला दिन होगा। कल से मुस्लिम धर्म के लोग रोजे से रहेंगे। पवित्र रमजान के दौरान मुस्लिम समुदाय के लोग तकरीबन 900 मिनट तक बिना खाए पीए रहते हैं।

39 साल की वह रहस्यमयी महिला जिसकी काली करतूतों से हिल रही है मुख्यमंत्री की कुर्सी

Ramzan

शुक्रवार को रमजान के रोजे शुरुआत होगी। वहीं इस बार कोरोना वायरस और लाकडाउन के चलते रमजान की सभी इबादतें घर में ही होंगी। देश के उलेमाओं और मुस्लिम धर्मगुरुओ ने लोगों से अपील की है कि वो इस बार रमजान में घरों में ही इबादतें करें।

रमजान में भी शबे-बारात की तरह खुद से फैसला लें और घरों से ही इबादत करें मुस्लिम: नकवी

केरल-कर्नाटक में कल से रमजान

केरल-कर्नाटक में कल से रमजान

मुस्लिमों के पवित्र महीने रमजान की शुरुआत 24 अप्रैल से हो रही है। कर्नाटक और केरल में कल से रोजा रखा जाएगा। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक गुरुवार को केरल के कप्पड़ मेंं और कर्नाटक के उडुपी में चांद दिखा। चांद दिखने के अगले दिन से रोजे की शुरुआत होती है। केरल स्थित कोझिकोड के कप्पड में चांद नजर आ गया है। कल से यहां रोजे की शुरुआत होगी जो 24-25 मई तक चलेगा। कल के सेहरी का समय सुबह 4 बजकर 22 मिनट का है तो वहीं इफ्तार का वक्त शाम के 6 बजकर 53 मिनट है।

 15 घंटे नौ मिनट का होगा पहला रोजा

15 घंटे नौ मिनट का होगा पहला रोजा

इस बार पहला रोजे 15 घंटे 9 मिनट से ज्यादा वक्त के होगा। वहीं अंतिम रोजा 15 घंटे एक मिनट अवधि का होगा। पहला रोजा सुबह 04.15 बजे शुरू होगा जो शाम को 6.54 बजे खत्म होगा। लोगों को इस बार घरों में रहकर इबादत करने की सलाह दी गई है। वहीं लोगों को सामूहिक रूप से रोजा इफ्तार के कार्यक्रम नहीं करने की सलाह दी गई है।

जानिए रोजे का नियम

जानिए रोजे का नियम

रोजे के दौरान सिर्फ भूखे-प्यासे रहने ही नियम नहीं है, बल्कि आंख, कान और जीभ का भी रोज़ा रखा जाता है। इसका मतलब है कि रोजे के दौरान बुरा न देखें, बुरा न सुनें और बुरा न कहें , इसका पालन किया जाता है। अपनी बातों से किसी को आहत न करने का ध्यान रखना पड़ता है। रमजान के महीने में कुरान पढ़ने का अलग ही महत्व होता है। हर दिन की नमाज के अलावा रमजान में रात के वक्त एक विशेष नमाज भी पढ़ी जाती है, जिसे तरावीह कहते हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
ramzan 2020, Ramzan 2020 date, Ramzan 2020 in india, ramzan moon, roza, eid date, eid 2020, ramzan moon, kerala, Month of Ramzan , first day of roza, रमजान, रोजा, रमजान 2020, चांद, केरल, रोजे का पहला दिन
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X