• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

तो क्या कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए मान गए हैं राहुल गांधी? चिंतन शिविर में हो सकता है ऐलान

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 12 मई। राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस का चिंतन शिविर शुरू होने जा रहा है। इस चिंतन शिविर में कांग्रेस की कार्यकारी अक्ष्यक्ष सोनिया गांधी के साथ पार्टी के शीर्ष नेता इकट्ठा होंगे। शिविर में पार्टी के संगठन पर चर्चा होगी, साथ ही इस बात पर भी मंथन होगा कि कैसे बारतीय जनता पार्टी की चुनौती से 2024 में निपटा जाए। पार्टी के शीर्ष नेताओं का मानना है कि राहुल गांधी को पार्टी के अध्यक्ष पद को स्वीकार करना चाहिए। सूत्रों की मानें तो पार्टी के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि राहुल गांधी को पार्टी के अध्यक्ष पद को स्वीकार करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें- UP में DGP को हटाने की योगी की स्टाइल के पीछे क्या है अफसरशाही को संदेश, जानिए इसके मायनेइसे भी पढ़ें- UP में DGP को हटाने की योगी की स्टाइल के पीछे क्या है अफसरशाही को संदेश, जानिए इसके मायने

    Udaipur Congress Chintan Shivir: Rahul Gandhi फिर बनेंगे Congress Party President ! | वनइंडिया हिंदी
    फिर से संभाल सकते हैं कमान

    फिर से संभाल सकते हैं कमान

    रिपोर्ट के अनुसार राहुल पार्टी के अध्यक्ष पद को स्वीकार करने के लिए तैयार हैं। इसके बाद बैठक में एक प्रस्ताव भेजा गया कि पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए अगस्त-सितंबर माह में चुनाव कराए जाए। लेकिन इसके बाद यह फैसला लिया गया कि इस प्रक्रिया को और पहले करना चाहिए। 2019 के लोकसभा चुनाव में हार के बाद राहुल गांधी ने पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था और सोनिया गांधी एक बार फिर से पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष बन गई थीं। लेकिन उदयपुर में होने वाले चिंतन शिविर में माना जा रहा है कि पार्टी के अध्यक्ष पद को लेकर बड़ा फैसला हो सकता है।

    2019 की हार के बाद राहुल ने दिया था इस्तीफा

    2019 की हार के बाद राहुल ने दिया था इस्तीफा

    हाल ही में पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में जिस तरह से कांग्रेस पार्टी को बुरी हार का सामना करना पड़ा उसपर भी इस चिंतन शिविर में मंथन हो सकता है। पिछले आठ सालों में हुए कई चुनावों में कांग्रेस पार्टी को बुरी हार का सामना करना पड़ा है। पंजाब जैसे कुछ अहम राज्यों से भी कांग्रेस की विदाई हुई है, जोकि पार्टी के लिए चिंता का विषय है। बता दें कि अगला चिंतन शिविर 13 मई को सोनिया गांधी के शुरुआती भाषण से शुरू होगा और 14 मई को राहुल गांधी के भाषण के साथ खत्म होगा।

    बागी नेताओं को है उम्मीद

    बागी नेताओं को है उम्मीद

    वहीं पार्टी के बागी नेताओं को उम्मीद है कि पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर कुछ सख्त फैसले लेगी। उन्हें इस बात का भरोसा है कि पार्टी एक परिवार में एक टिकट की नीति पर आगे बढ़ेगी, पिछले, कमजोर वर्ग के लोगों के प्रतिनिधित्व को बढ़ाएगी। चिंतन शिविर में राहुल गांधी का भाषण होगा और इस दौरान कई संकल्पों का भी ऐलान किया जाएगा।

    चेतक एक्सप्रेस से 60 नेता पहुंचेंगे उदयपुर

    चेतक एक्सप्रेस से 60 नेता पहुंचेंगे उदयपुर

    अहम बात यह है कि इस चिंतन शिविर में शामिल होने के लिए पार्टी के 60 नेता चेतक एक्सप्रेस से उदयपुर पहुंचेंगे। अहम बात यह है कि पार्टी के भीतर 19 साल के बाद यह चिंतन शिविर होने जा रहा है। पार्टी के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने कहा कि हमने जो मुद्दे उठाए हैं उम्मीद है कि उसपर निर्णय होगा, 19 साल के बाद पार्टी यह चिंतन शिविर करने जा रही है, यह अच्छी शुरुआत है, लोगों को अपनी राय रखने का मौका मिलना चाहिए। हमे उम्मीद है कि ऐसा ही होगा और 2024 के लिए पार्टी मजबूत होगी।

    Comments
    English summary
    Rahul Gandhi is all set to lead congress as president says report announcement likely in chintan shivir.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X