यहां शेरों की सेंचुरी के बीच एक वोटर के लिए बनाया जाता है पोलिंग बूथ

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

शिमला।  देश में एक ऐसा भी गांव है जहां पर एक मतदाता के लिए पोलिंग बूथ लगाया जाता है। हम बात कर रहे हैं गुजरात के गिरि जिले की बानेज गांव की। जहां पर चुनाव अयोग हर इलेक्शन में वहां पर एक मतदाता के लिए पोलिंग बूथ बनवाती है। बानेज ऐतिहासिक तीर्थ स्थल है और घने जंगलों के बीच स्थित है।

gujarat

यह पोलिंग बूथ गुजरात की शान कहे जाने वाले एशियाई शेरों के गिर सेंचुरी के अंदर है। इस सेंचुरी के अंदर किसी को रहने की इजाजत नहीं है लेकिन बनेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी महंत भारतदास गुरु दर्शन दास पिछले कई वर्षों से यहां रह रहे हैं। बानेज गांव में वह एकमात्र वोटर हैं। जंगल के बीचोबीच स्थित होने की वजह से वह 20 किमी चलकर वोट डालने नहीं जा सकते हैं।

टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक साल 2002 के बाद से चुनाव आयोग इस गांव में मतदान की पूरी व्यवस्था करता आया है। चुनाव आयोग के मुताबिक, अन्य पोलिंग बूथों की तरह यहां बानेज में एक वोटर के मतदान के लिए पूरे कर्मचारी आते हैं। इस दस्ते में मतदान अधिकारी, दो चुनाव एजेंट, एक चपरासी, दो पुलिसकर्मी और एक सीआरपीएफ जवान मतदान खत्म होने तक ड्यूटी करते हैं।

polling booth

चुनाव के एक दिन पहले वन विभाग के कमरे में मतदान अधिकारी रुकते हैं जो मंदिर से 100 मीटर दूर है। इसी कमरे में ही अगले दिन पोलिंग बूथ बना दिया जाता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
polling booth in Gir forest for one person in gujarat
Please Wait while comments are loading...