• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

रक्षा मंत्रालय का खुलासा, KBC के नाम पर लोगों को फंसा रहा है पाकिस्तान

|

नई दिल्ली:

'रक्षा मंत्रालय ने जारी की एडवाइजरी'

'रक्षा मंत्रालय ने जारी की एडवाइजरी'

रक्षा मंत्रालय ने इसके संबंध में एक सिक्योरिटी एडवाइजरी जारी की है। एडवाइजरी के मुताबिक, रक्षा मंत्रालय की साइबर सेल को पता चला है कि टीवी शो कौन बनेगा करोड़पति की लोकप्रियता को देखते हुए इसके नाम पर पाकिस्तान से कुछ फेक सोशल मीडिया अकाउंट ऑपरेट किए जा रहे हैं। ये लोग केबीसी से जुड़े फेक मैसेज भेजकर लोगों को व्हाट्सऐप ग्रुप में ऐड करते हैं और उन्हें अपने जाल में फंसाते हैं।

पाकिस्तान की साजिश का पर्दाफाश

पाकिस्तान की साजिश का पर्दाफाश

रक्षा मंत्रालय ने अपनी एडवाइजरी में दो नंबर भी जारी किए हैं, जो व्हाट्सऐप ग्रुप के एडमिन हैं। इन दोनों नंबरों से लोगों केबीसी के नाम पर अपने जाल में फंसाने की कोशिश की जाती है। रक्षा मंत्रालय ने उन लोगों को सलाह दी कि वो इस ग्रुप को तुरंत छोड़ दें, जिन्होंने ये ज्वॉइन किया है। साइबर सेल ने लोगों ने एडवाइजरी में लोगों से ये भी कहा है कि वे अपने व्हाट्सऐप सैटिंग में जाकर ये सुनिश्चित कर लें कि उन्हें वही लोग किसी ग्रुप में जोड़ सकें, जिनकी कॉन्टेक्ट डिटेल उनके फोन में पहले से सेव हो।

आर्टिकल 370 हटाए जाने से बौखलाया है पाकिस्तान

आर्टिकल 370 हटाए जाने से बौखलाया है पाकिस्तान

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। इसके बाद उसकी खुफिुया एजेंसियां भारत के खिलाफ तेजी से अफवाह फैलाने में लगी है और भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को वर्चुअल वर्ल्ड में निशाना बना रही हैं। सुरक्षा एजेंसियों ने अब तक 200 से ज्यादा सोशल मीडिया अकाउंट चिह्नित किए हैं, जो मौजूदा या रिटायर्ड मिलिट्री अफसरों के नाम पर बनाए गए थे। इन फेक अकाउंट्स के जरिए पाकिस्तान कश्मीर पर प्रोपेगैंडा फैला रहा था।

ट्विवटर ने सस्पेंड किए अकाउंट

ट्विवटर ने सस्पेंड किए अकाउंट

सुरक्षा एजेसिंयों ने ट्विटर को इस संबंध में अपनी चिंता बताई और इसके बाद ट्विटर पर बड़ी संख्या में ऐसे फेक अकाउंट को सस्पेंड किया है। भारतीय सेना ने अब अपने जवानों से भी कहा है कि वे सोशल मीडिया पर अपने काम से जुड़ी कोई भी जानकारी साझा करने से बचें। क्योंकि इसका इस्तेमाल गलत जानकारी फैलाने में किया जा सकता है। गौरतलब है कि इसके अलावा हनी ट्रैप के भी कई मामले सामने आए हैं, जिनमें सेना के मौजूदा अफसरों और जवानों को खुफिया जानकारी निकालने के लिए जाल में फंसाने की कोशिश की गई। इस तरह के मामलों में लड़कियों के नाम से फर्जी अकाउंट बनाए जाते है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pakistani fake social media handles using kbc to trap people says Defence Ministry
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X