दादरी के अखलाक हत्याकांड में आरोपियों को हमने नहीं दी नौकरी- NTPC

Subscribe to Oneindia Hindi

दादरी। सरकारी बिजली कंपनी NTPC ने  कहा कि उसने मोहम्मद अखलाक की हत्या के मामले में आरोपियों को नौकरी नहीं दी है। मीडिया रिपोर्टों में बताया गया है कि सितंबर 2015 में हुए हत्याकांड के आरोपियों को नौकरी दी गई है। रिपोर्ट्स में कहा गया है कि दादरी के बिसाहड़ा गांव में मोहम्मद अखलाक की हत्या में 15 आरोपियों को एक स्थानीय विधायक के जरिए अनुबंध की नौकरी मिल गई है। उत्तर प्रदेश स्थित नोएडा के दादरी में NTPC संयंत्र ने एक बयान दिया। 'NTPC  दादरी प्रबंधन ने संविदात्मक रोजगार के बारे में विभिन्न मीडिया रिपोर्टों की सामग्री से इनकार करते हुए कहा है कि बिसाहड़ा गांव के अखलाख के मामले में आरोपियों को नौकरी देने की रिपोर्ट झूठी और आधारहीन है।' उन्होंने कहा कि मामले के अभियुक्तों को नौकरी देने के लिए कोई समझौता नहीं किया गया है और उन्हें कोई रोजगार नहीं दिया गया है। NTPC ने यह भी कहा कि अपनी कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी नीति के तहत, वो अपने संयंत्र के आसपास के समुदायों के उत्थान और विकास के लिए प्रतिबद्ध है।

अखलाक हत्याकांड में आरोपियों को हमने नहीं दी नौकरी- NTPC
Allahabad: Truth of BSP leader Rajesh Yadav's murder | वनइंडिया हिंदी

गौरतलब है कि दादरी में मंदिर के लाउडस्पीकर से इस बात की घोषणा की गयी थी कि अखलाक ने गोहत्या की है और उसकी पत्नी गोमांस बना रही है। जिसके बाद एकदम से भीड़ जमा हुई देखते ही देखते अखलाख को मौत के घाट उतार दिया गया था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Not given jobs of Akhlaq lynching accused, says NTPC

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.