दिल्ली में ऑड-इवेन फॉर्मूले को लागू करने पर NGT आज देगा फैसला

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। जिस तरह से देश की राजधानी की हवा में जहर घुला हुआ है उसे देखते हुए तमाम कदम उठाए जा रहे हैं जिससे की प्रदूषण को रोका जा सके। इसके लिए आज नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल एक बड़ा फैसला ले सकती है। दिल्ली में कारों के ऑड इवेन फॉर्मूले को एक बार फिर से लागू करने को लेकर एनजीटी फैसला ले सकता है। इस मामले में आज एनजीटी विशेष सुनवाई करके फैसला लेगा। एनजीटी ने शुक्रवार को दिल्ली सरकार को फटकार लगाते हुए कहा था कि जिस वक्त हालाता बेहतर हो रहे हैं उस वक्त क्यों ऑड इवेन फॉर्मूले को लागू कर रही है। साथ ही एनजीटी ने कहा है कि अगर सरकार यह साबित करने में सफल नहीं रहती है कि ऑड इवेन लागू करने से स्थिति में सुधार आया है।

pollution

दिल्ली सरकार के फैसले के पीछे की वजह पर सवाल खड़ा करते हुए एनजीटी ने कहा कि केंद्र सरकार और दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़े दर्शाते हैं कि पिछले वर्ष ऑड इवेन फॉर्मूला लागू होने से पीएम 10 और पीएम 2.5 के लेवल में कोई बदलाव नहीं आया था। आपको बता दें कि दिल्ली सरकार ने कहा था कि13 से 17 नवंबर तक शहर में ऑड इवेन फॉर्मूला लागू होगा, लेकिन एनजीटी ने सरकार से कहा है कि वह इस नियम को तभी लागू करे जब पीएम 2.5 लेवल 300 से उपर हो।

एनजीटी ट्रिब्यूनल के चेयरपर्सन जस्टिस स्वतंत्र कुमार ने कहा कि ऑड इवेन फॉर्मूले को इस तरह से नहीं लागू किया जा सकता है, पिछले एक साल में आपकी ओर से कुछ भी नहीं किया गया है। जब स्थिति बेहतर हो रही है तो सरकार इस फॉर्मूले को लागू करने जा रही है, अगर आपको यह करना था तो इसे पहले करना चाहिए था, यह लोगों के लिए मुश्किल खड़ी करेगा। इस फैसले पर सवाल खड़ा करते हुए बेंच ने कहा कि आखिर क्यों यह स्कीम पांच दिन के लिए ही लागू की गई, साथ ही इस बात पर सवाल खड़े किए कि आखिर क्यों दो पहिया वाहनों को छूट दी गई।

इसे भी पढ़ें- दिल्ली प्रदूषण: आज तेज हवा चलने से धुंध छंटने की उम्मीद

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
NGT to decide whether odd even formula to impose in Delhi or Not. NGT has pulled Deli government over the late imposition.
Please Wait while comments are loading...