• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Subhash Chandra Bose Birth Anniversary: नेताजी को राष्ट्रपति-पीएम ने किया याद, बताया- देश का महानायक

|

नई दिल्ली। आज नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती है, उन्हें पीएम नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दोनों ने नमन किया है। पीएम मोदी ने Twitter पर लिखा है कि नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती पर मैं उन्हें सलाम करता हूं, उनके साहस ने भारत को उपनिवेशवाद से मुक्त कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। नेताजी महान बुद्धिजीवी थे जिन्होंने हमेशा समाज के वंचित तबके के हितों और कल्याण के बारे में सोचा है। पीएम मोदी ने अपने ट्वीट के साथ एक वीडियो भी शेयर किया है, जिसमें नेताजी को याद किया गया है।

नेताजी को राष्ट्रपति-पीएम ने किया याद

तो वहीं राष्ट्रपति कोविंद ने भी नेताजी को याद करते हुए नमन किया है। उन्होंने भी Twitter पर लिखा है कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयन्ती पर उन्हें मेरा नमन। वे हमारे सबसे लोकप्रिय राष्ट्रनायकों और स्वतंत्रता संग्राम के महानतम सेनानियों में से हैं, उनके कहने पर, लाखों भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में कूद पड़े और अपना सब कुछ बलिदान किया। उनकी वीरता और देशभक्ति हमें प्रेरणा देती रहेगी।

यह पढ़ें:16 साल बाद अमृता से तलाक पर छलका सैफ अली खान का दर्द, कहा-ये दुनिया की सबसे बुरी चीजयह पढ़ें:16 साल बाद अमृता से तलाक पर छलका सैफ अली खान का दर्द, कहा-ये दुनिया की सबसे बुरी चीज

    Netaji Subhash Chandra Bose की जयंती आज, जानें उनके बारे रोचक खास बातें | Oneindia hindi
     नेताजी सुभाष चन्द्र बोस का जन्म कटक शहर में हुआ था

    नेताजी सुभाष चन्द्र बोस का जन्म कटक शहर में हुआ था

    आपको बता दें कि नेताजी सुभाष चन्द्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को ओडिशा के कटक शहर में हुआ था। उनके पिता का नाम जानकीनाथ बोस और मां का नाम प्रभावती था। जानकीनाथ बोस कटक शहर के मशहूर वकील थे।इन्होंने कलकत्ता के स्कॉटिश चर्च कॉलेज से उन्होंने दर्शनशास्त्र में स्नातक की डिग्री हासिल की थी।

    नेताजी ने 1921 में प्रशासनिक सेवा से इस्तीफा दे दिया था

    साल 1919 में वे भारतीय प्रशासनिक सेवा की तैयारी के लिए इंग्लैंड पढ़ने गए। इन्होंने भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए 1920 में आवेदन किया और इस परीक्षा में चौथा स्थान हासिल किया। लेकिन भारत मां के इस दुलारे बेटे ने जब जलियावाला बाग वाला नरसंहार देखा तो इनका मन व्यथित हो गया और इन्होंने 1921 में प्रशासनिक सेवा से इस्तीफा दे दिया।

    'तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा'

    उन्होंने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापान के सहयोग से आजाद हिंद फौज का गठन किया था। उनके द्वारा दिया गया 'जय हिन्द' और 'तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा' का नारे ने स्वतंत्रता संग्राम के लिए लड़ने वालों में जोश भर दिया था।

    यह पढ़ें: तो क्या प्रेग्नेंट हैं ऐश्वर्या राय?,अभिषेक बच्चन के Tweet से लगने लगे कयासयह पढ़ें: तो क्या प्रेग्नेंट हैं ऐश्वर्या राय?,अभिषेक बच्चन के Tweet से लगने लगे कयास

    English summary
    The country today remembers one of India's most celebrated freedom fighters, Subhas Chandra Bose on his 122nd birth anniversary. PM Modi, President Ram Nath Kovind Remember Subhas Chandra Bose on Anniversary.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X