• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बॉम्बे HC ने कंगना के दफ्तर तोड़ने पर लगाई रोक, उठाए BMC की कार्रवाई पर सवाल

|

मुंबई। बॉम्‍बे हाई कोर्ट ने कंगना रनौत को बड़ी राहत देते हुए उनके मुंबई स्थित 'मणिकर्णिका फिल्म्ज' ऑफिस में अवैध निर्माण तोड़ने पर रोक लगा दी है, हालांकि बीएमसी ने पहले ही अपनी कार्रवाई पूरी ली थी। वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए हुई सुनवाई में अदालत ने यह फैसला सुनाया है, साथ ही बॉम्‍बे हाई कोर्ट ने इस मामले पर गुरुवार दोपहर तीन बजे फिर से सुनवाई करने का आदेश दिया है और अदालत ने बीएमसी से तब तक जवाब दाखिल करने को कहा है।

    Kangana Ranaut को Bombay High Court से मिली राहत, BMC के तोड़फोड़ पर लगाई रोक | वनइंडिया हिंदी
    बॉम्बे हाईकोर्ट ने BMC की कार्रवाई पर उठाए सवाल

    बॉम्बे हाईकोर्ट ने BMC की कार्रवाई पर उठाए सवाल

    गौरतलब है कि कोरोना महामारी को देखते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट ने 26 मार्च 2020 को एक आदेश जारी करते हुए कहा था कि राज्य सरकार बीएमसी और सभी संबंधित विभाग कोरोना के माहौल को देखते हुए किसी के खिलाफ कोई विरोधात्मक कार्रवाई जल्दबाजी में ना करें। जिससे कि अगर व्यक्ति को अदालत का दरवाजा खटखटाना हो तो वह कानूनी सहायता के लिए अदालत का दरवाजा खटखटा सके, इसी बात की दलील कंगना ने भी आज दी थी।

    यह पढ़ें:'सामना' ने कंगना रनौत को बताया-देशद्रोही, मेंटल और बेईमान, मोदी सरकार पर भी साधा निशाना

    'बॉलीवुड अब देखे, फासीवाद कैसा दिखता है'

    'बॉलीवुड अब देखे, फासीवाद कैसा दिखता है'

    उनके ऑफिस में आज जब बीएमसी ने तोड़फोड़ शुरू की थी तो उन्होंने ट्वीट करके कहा था कि उनके घर में कुछ भी अवैध निर्माण नहीं हुआ है। सरकार ने 30 सितंबर तक डिमॉलिशन की कार्रवाई पर प्रतिबंध लगा रखा है, बॉलीवुड अब देखे, फासीवाद कैसा दिखता है।

    बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कारपोरेशन ने की कंगना के ऑफिस में तोड़-फोड़

    बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कारपोरेशन ने की कंगना के ऑफिस में तोड़-फोड़

    मालूम हो कि आज बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कारपोरेशन (BMC) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए अभिनेत्री कंगना रनौत के दफ्तर को तोड़ दिया है, बीएमएसी का कहना है कि कंगना ने अपने ऑफिस में अवैध निर्माण करवाया था, इस बारे में बीएमसी के सीनियर अधिकारी ने मीडिया से कहा कि हमने कंगना को 24 घंटे का समय दिया था, लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया तो हमें एक्शन लेना पड़ा।

    'आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा उद्धव ठाकरे'

    'आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा उद्धव ठाकरे'

    कोर्ट के इस फैसले के बाद मुंबई पहुंची कंगना ने सीएम उद्धव ठाकरे को खुली चुनौती देते हुए कहा कि उद्धव ठाकरे तुझे क्या लगता है कि तूने फिल्म माफिया के साथ मिलकर मेरा घर तोड़कर मुझसे बहुत बड़ा बदला लिया है, आज मेरा घर टूटा है, कल तेरा घमंड टूटेगा। ये वक्त का पहिया है, याद रखना, हमेशा एक जैसा नहीं रहता है।

    जय हिंद, जय महाराष्ट्र

    मुझे पता तो था कश्मीरी पंडितों पर क्या बीती होगी, आज मैने महसूस किया है। आज मैं इस देश को वचन देती हूं कि मैं सिर्फ अयोध्या पर ही नहीं कश्मीर पर भी एक फिल्म बनाऊंगी। मैं देशवासियों को जगाऊंगी, उद्धव ठाकरे ये जो क्रूरता है, ये जो आतंक है, अच्छा हुआ, ये मेरे साथ हुआ क्योंकि इसके कुछ मायने हैं, जय हिंद, जय महाराष्ट्र।

    यह पढ़ें: कंगना रनौत को लेकर दिए बयान पर महाराष्ट्र के गृह मंत्री देशमुख को मिली धमकी, जानिए पूरा मामला

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Bombay High Court stays BMC's demolition at Kangana Ranaut's property.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X