• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

मायावती ने कुंवर दानिश अली को फिर से बनाया संसदीय दल का नेता, BJP-SP पर लगाया बड़ा आरोप

|

नई दिल्ली। उपचुनाव में मिली करारी हार के बाद बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के बीच फिर से खिटपिट शुरू हो गई है। बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने सपा को मुस्लिम विरोधी पार्टी बताया है। वहीं, गुरुवार को मायावती ने कुंवर दानिश अली को फिर से संसदीय दल का नेता बनाया है। मालूम हो कि, दानिश को कुछ दिनों पहले ही मायावती ने पद से मुक्त कर दिया था। इसके अलावा उन्होंने दानिश अली को भविष्य में भी प्रदेश अध्यक्ष बनाए रखने का ऐलान किया है।

Mayawati rebuilds Kunwar Danish Ali leader of parliamentary party

गुरुवार को एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बसपा सुप्रीमों मायावती ने कुंवर दानिश अली को लोकसभा में संसदीय दल का नेता बनाए जाने का ऐलान किया। मायावती के इस कदम को लोकसभा में मिली हार के बाद मुस्लिमों को आकर्षित करने से जोड़कर देखा जा रहा है। कार्यक्रम में मायावती ने समाजवादी पार्टी पर भी जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, मैं और मेरी पार्टी मुस्लिम समाज को हर कीमत पर आगे लाना चाहते हैं और उनको अहमियत देने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। लेकिन सपा और बीजेपी ने कभी मुस्लिमों को साथ लेकर चलने की बात नहीं कही ।

Spicejet पर भड़की बीजेपी नेता शाइना एनसी, बोली-पहले फ्लाइट लेट और फिर बैग खोया

सपा और बीजेपी मुस्लिम विरोधी

मायावती ने कहा, सपा और बीजेपी मुस्लिम-दलित के गठजोड़ से परेशान हैं। बीजेपी और सपा अंदर ही अंदर आपस में मिले हुए हैं वह उपचुनाव में साथ काम करते है, उन्होंने कहा, बसपा का मनोबल गिराने के लिए हमें उपचुनाव में कोई सीट नहीं जीतने दिया। पिछले लोकसभा चुनाव में इस बात पर जोर दिया गया कि मुस्लिमों के ज्यादा टिकट मिलने पर भाजपा को वोट मिलेगा, लेकिन बसपा आपने संकल्प पर टिकी रही और यही नतीजा है कि हमारे सभी 10 सांसद सर्वसमाज का प्रतिनिधित्व करते हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mayawati rebuilds Kunwar Danish Ali leader of parliamentary party
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X