• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Mask Parottas: यह पहनने वाला नहीं जनाब खाने वाला मास्क है, जानिए कहां और कैसे हुई शुरुआत

|

नई दिल्ली। दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस महामारी का इलाज अभी तक नहीं मिल पाया है लेकिन मास्क पहनकर इस बीमारी से बचा जा सकता है। भारत सहित दुनिया के कई देशों में मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है ऐसा न करने पर भारी जुर्माना भी भरना पड़ सकता है। इन सबके बावजूद कई ऐसे लोग हैं जो मास्क पहनने से कतराते हैं, वह खुद की जान तो जान खतरे में डालते ही हैं साथ ही महामारी फैलाने का एक माध्यम भी बनते हैं।

इसलिए बनाया मास्क पराठा

इसलिए बनाया मास्क पराठा

ऐसे लोगों में मास्क के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए तमिलनाडु के मदुरै में स्थित टेम्पल सिटी नाम के रेस्टोरेंट ने एक नायाब तरीका निकाला है। इस रेस्टोरेंट ने मास्क की शेप में पराठा बनाना शुरू किया है जिसे खाया भी जा सकता है। इस पराठे को बनाने के पीछे रेस्टोरेंट का मकसद लोगों को कोविड-19 के बारे में जागरूक करना है। मास्क पराठा के नाम से सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस स्पेशल पराठे को एस सतीश ने तैयार किया है।

यहां के रेस्टोरेंट में हुई शुरूआत

यहां के रेस्टोरेंट में हुई शुरूआत

सतीश बताते हैं कि उन्होंने तमिलनाडु के मशहूर वीच्चू पराठे को ही सर्जिकल मास्क का रूप दिया है। जिसकी तस्वीरें अब सोशल मीडिया पर वायरल हो गई हैं। रेस्टोरेंट के मालिक केएल कुमार ने कहा, जब लॉकडाउन के बाद उनका रेस्टोरेंट खुला तो काफी ग्राहक बिना मास्क के वहां आने लगे। इसको देखते हुए उन्होंने लोगों को फ्री में मास्क देना शुरू किया और कोरोना से बचने की हिदायत भी दी। इस दौरान उन्होंने देखा की जिले में बहुत से लोग मास्क के बिना घुम रहे हैं।

पूरे भारत में मशहूर हुआ मास्क पराठा

पूरे भारत में मशहूर हुआ मास्क पराठा

ऐसे में केएल कुमार ने लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए मास्क शेप में पराठा बनाना शुरू कर दिया। उनका यह आइडिया काम आया और उनका पराठा सिर्फ जिले में ही नहीं बल्कि पूरे भारत में मशहूर हो गया। हम भी उम्मीद करते हैं कि इससे लोग मास्क के प्रति जागरूक होंगे और खुद के साथ-साथ दूसरों को भी कोरोना वायरस से बचाएंगे। बता दें कि केएल कुमार के दे स्पेशल मास्क पराठा की कीमत 50 रुपए हैं।

50 रुपए के दो स्पेशल मास्क पराठे

उनके इस पराठे का क्रेज सिर्फ बच्चों में ही नहीं बल्कि बड़ों में भी देखने को मिला है। लोग इस रेस्टोरेंट में आकर या फिर ऑनलाइन भी पराठे ऑर्डर कर सकते हैं। के एल कुमार ने चुटकी लेते हुए कहा कि सुरक्षा और बहुत जरूरी सोशल डिस्टेंसिंग के लिए संदेश फैलाने में हमें मदद मिली है, जब से हमने यह पराठे बनाने शुरू किए हैं तब से ग्राहक मास्क पहनकर सामान लेने आते हैं। शुरू में मास्क के डिजाइन में पराठा बनाने में दो दिन का समय लग गया था।

मोस्‍ट वांटेंड विकास दुबे को भी कोरोना का खतरा, मौत के डर से न्‍यूज चैनल के LIVE शो में कर सकता है सरेंडर

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mask Parottas went viral on social media Starts in TamilNadu restaurant
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X