• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

आज से महाराष्ट्र में रेस्टोरेंट, बार खोलने की इजाजत, लेकिन अभी भी 60-70 फीसदी लोगों को इस बात का इंतजार

|

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के चलते महाराष्ट्र में तमाम रेस्टोरेंट और बार पिछले काफी महीनों से बंद हैं। लेकिन अब सरकार ने इन्हें फिर से खोलने का फैसला लिया है। प्रदेश में तकरीबन चार लाख रेस्टोरेंट, बार और कैफे हैं, जिसमे से अकेले मुंबई में 1500 हैं, जोकि नई गाइडलाइन के बाद आज से खोले जा सकते हैं। लॉकडाउन की वजह से ये रेस्टोरेंट, बार और कैफे तकरीबन छह महीने से बंद थे, लेकिन आज से सभी नई गाइडलाइन के अनुसार फिर से खोले जा सकते हैं। महाराष्ट्र सरकार ने इन सभी रेस्टोरेंस, कैफे, कैंटीन, डाइनिंग हॉल, बार को 5 अक्टूबर से 50 फीसदी क्षमता के साथ खोलने की इजाजत दे दी है।

आसान नहीं है फिर से रेस्टोरेंट खोलना

आसान नहीं है फिर से रेस्टोरेंट खोलना

हालांकि सरकार की ओर से इन बार, रेस्टोरेंट आदि को खोलने की इजाजत दी जा चुकी है, मुंबई के रेस्टोरेंट में ग्राहकों की आमद के लिए तैयारियां शुरू कर दी गई है और गाइडलाइन के अनुसार लोगों के बैठने का इंतजाम किया जा रहा है। लेकिन बड़ी संख्या में अभी भी कई रेस्टोरेंट, कैफे, बार अभी भी उसे खोलने की स्थिति में नहीं हैं। माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में ये रेस्टोरेंट मालिक इस बाबत फैसला ले सकते हैं कि फिर से बार, रेस्टोरेंट को खोला जाए या नहीं। दरअसल इन रेस्टोरेंट, कैफे और बार मालिक अभी लोगों के मूड को भांपने की कोशिश कर रहे हैं, इसके बाद ही रेस्टोरेंट आदि को खोलने की तैयारी की जाएगी।

गाइडलाइन का पालन जरूरी

गाइडलाइन का पालन जरूरी

रेस्टोरेंट, बार आदि में आने वाले ग्राहकों से आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने से लेकर कई कर्मचारियों को तैनात किया जाएगा जो इस बात को सुनिश्चित करेंगे कि सोशल डिस्टेंसिंग, बार-बार हाथ को सैनेटाइज करने जैसे अहम गाइडलान का पालन करवा सके ताकि ग्राहकों के स्वास्थ के साथ किसी भी तरह का कोई समझौता ना हो और उनका विश्वास बना रहे। रेस्टोरेंट और बार आदि बिजनेस से जुड़े लोगों का कहना है कि अगले एक महीने तक गाइडलाइन के साथ प्रयोग किया जाएगा। इंडियन होटेल्स एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष शिवानंद शेट्टी ने कहा कि कोरोना से पहले की स्थिति से मौजूदा स्थिति बिल्कुल अलग होगी। ग्राहकों के आने से पहले हमे रेस्टोरेंट को सैनेटाइज करना होगा।

सिर्फ 30-40 फीसदी रेस्टोरेंट खुलेंगे

सिर्फ 30-40 फीसदी रेस्टोरेंट खुलेंगे

शेट्टी ने कहा कि हमारे संगठन के साथ 8000 से अधिक रेस्टोरेंट जुड़े हैं, लेकिन इसमे से सिर्फ 30-40 फीसदी ही लोग सोमवार से अपने रेस्टोरेंट को खोलेंगे। यह हर किसी के लिए नई शुरुआत है। लॉकडाउन की वजह से इलेक्ट्रॉनिक सामानों की सर्विसिंग नहीं कराई गई है और इन सामान ने काम कराना बंद कर दिया है, लिहाजा ये लोग धीरे-धीरे अपने रेस्टोरेंट को खोलेंगे। जोगेश्वरी में अलिफ रेस्टोरेंट के एक कर्मचारी ने बताया कि जैसे ही लॉकडाउन का ऐलान किया गया, हमारे सभी कर्मचारी अपने घर चले गए, हमारे पास फिर से रेस्टोरेंट खोलने के लिए पूरा स्टाफ नहीं है। हम उन लोगों से वापस आने की अपील कर रहे हैं। फिलहाल अभी हम सिर्फ होम डिलिवरी दे रहे हैं वो भी ऐप्लिकेशन के जरिए।

इसे भी पढ़ें- Google को टक्कर देने के लिए Paytm ने लॉन्च किया मिनी ऐप स्टोर, भारतीयों को ऐसे मिलेगा फायदा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Maharashtra gov allows to open restaurants and bar but owners are still on wait and watch policy.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X