• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जम्‍मू कश्‍मीर: गर्भवती महिला को कंधे पर रखकर ढाई किलोमीटर तक बर्फ में चले सेना के जवान-Video

|
    Jammu & Kashmir में Army ने की Pregnant महिला की मदद, Video Viral | वनइंडिया हिंदी

    श्रीनगर। जम्‍मू कश्‍मीर के कई हिस्‍सों में एनकाउंटर में आतंकियों को ढेर करने वाली इंडियन आर्मी को पत्‍थर सहने पड़ते हैं और लोगों का विरोध झेलना पड़ता है। लेकिन इसी आर्मी ने उस समय यहां की एक स्‍थानीय महिला की मदद की जब वह प्रसव पीड़ा में बिलख रही थी और घाटी में बर्फबारी रुकने का नाम ही नहीं ले रही थी। सेना मु‍श्किल में इस महिला की मदद के लिए आगे आई और हर बार की तरह इस बार भी आर्मी की दरियादिली को सोशल मीडिया पर लोगों से तारीफ सुनने को मिल रही है। घटना उत्‍तर कश्‍मीर के तहत आने वाली बांदीपोर की है और सेना की मदद से इस महिला ने जुड़वा बच्चियों को जन्‍म दिया है। यह भी पढ़ें-Video: नगरोटा शहीद मेजर अक्षय गिरीश की बेटी ने बताया क्‍या करती है इंडियन आर्मी

    दर्द में थी महिला

    दर्द में थी महिला

    घटना शुक्रवार की है और बांदीपोर स्थित पनार आर्मी कैंप के कंपनी कमांडर को एक गांव वाले का फोन आया। इस गांववाले ने उनसे अनुरोध किया कि वह बर्फबारी में फंसी उनकी गर्भवती पत्‍नी गुलशना बेगम को अस्‍पताल तक पहुंचाने में उनकी मदद करें। अधिकारियों की ओर से इस बात की जानकारी दी गई। सेना जिस समय इस महिला की मदद के लिए निकली उस समय तेज बर्फबारी हो रही थी और तापमान -7 डिग्री से भी नीचे था। सड़कों पर बर्फ की मोटी चादर थी और किसी भी तरह से गाड़ी के जरिए अस्‍पताल पहुंचना असंभव था।

    सही समय पर अस्‍पताल पहुंचाना था जरूरी

    इस महिला को सही समय पर अस्‍पताल पहुंचाना बहुत ही जरूरी था। इसके बाद बांदीपोर राष्‍ट्रीय राइफल्‍स के जवानों ने मोर्चा संभाला। बिना समय गंवाएं वे इस महिला के घर पहुंचे और स्‍ट्रेचर पर महिला को लादकर निकल पड़े। बर्फबारी और ठंड के बीच जवान इस महिला को कंधे पर लादे करीब दो किलोमीटर तक चले और वह भी उस हालत में जब उनके पैर आधे किलोमीटर तक बर्फ में धंसे हुए थे। इस महिला को बांदीपोर स्थित डिस्ट्रिक्‍ट हॉस्पिटल ले जाया गया और सेना की एंबुलेंस ने इसमें मदद की।

    रविवार को दिया बच्चियों को जन्‍म

    रविवार को दिया बच्चियों को जन्‍म

    सेना ने समय की नजाकत को समझा और बिना एक सेकेंड गवाएं पहले ही सिविल अथॉरिटीज के साथ संपर्क कर लिया था। सेना ने अस्‍पताल में डॉक्‍टरों को पहले ही रेडी रहने को कह दिया था। चेक अप के बाद पता लगा कि महिला के गर्भ में जुड़वा बच्‍चे पल रहे हैं। उसे तुरंत ऑपरेशन की जरूरत थी। बांदीपोर से महिला को तुरंत श्रीनगर हॉस्पिटल भेजा गया था। रविवार की रात इस महिला ने सुरक्षित तरह से दो स्‍वस्‍थ बच्चियों को जन्‍म दिया।

    जम्‍मू कश्‍मीर पुलिस का भी जज्‍बा

    इस तरह की एक घटना बारामूला में भी हुई जहां पर जम्‍मू कश्‍मीर पुलिस के जवानों ने चार किलोमीटर तक का सफर तय करके एक गर्भवती महिला को अस्‍पताल पहुंचाया। कश्‍मीर घाटी के कई इलाकों में इस समय ऐसी बर्फबारी जो रही जिसने आम नागरिकों का जीना मुहाल कर दिया है। कई इलाकों का सपंर्क देश के बा‍की हिस्‍सों से पूरी तरह से कट गया है। लगातार हो रहे हिमस्‍खलन और बर्फबारी ने कई सड़कों को ब्‍लॉक कर दिया है और इस वजह से रोजमर्रा की जिंदगी भी प्रभावित हो रही है। कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया है कि बर्फबारी से जुड़े हादसों में करीब एक दर्जन लोगों की जान जा चुकी है जिसमें पांच जवान भी शामिल हैं।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Indian Army helped pregnant woman in snowbound Kashmir and now she is blessed with twin daughters.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X