• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारत को मिली बालाकोट स्ट्राइक में तबाही मचाने वाले 'स्पाइस' बमों की पहली खेप

|
    Indian Air Force को मिले और Spice 2000 बम, Balakot Air Strike में हुए थे इस्तेमाल | वनइंडिया हिंदी

    नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना ने बालाकोट एयर स्ट्राइक में सफलतापूर्वक इस्तेमाल की गई 'बिल्डिंग ब्लास्टर' के नाम से प्रसिद्ध स्पाइस-2000 बमों की पहली खेप हासिल कर ली है। ये उन बमों का उन्नत संस्करण हैं जिन्होंने पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जैश-ए-मुहम्मद के आतंकी अड्डे पर बीती फरवरी में कहर बरपाया था। ये बम ग्वालियर स्थित वायुसेना के अड्डे स्थित मिराज को मिले हैं। शीर्ष सूत्रों ने कहा, ''इजरायल की कंपनी ने भारत को स्पाइस-2000 बमों की डिलीवरी शुरू कर दी है।

    इसमें बिल्डिंग को पूरी तरह ध्वस्त करने की क्षमता है

    इसमें बिल्डिंग को पूरी तरह ध्वस्त करने की क्षमता है

    शीर्ष IAF स्रोतों ने बताया कि, इजरायली फर्म ने भारत को स्पाइस -2000 बमों की डिलीवरी शुरू कर दी है और इन बमों का पहला बैच हाल ही में प्राप्त हुआ था। उन्होंने बताया कि यह बम मिराज-2000 फाइटर एयरक्राफ्ट के घरेलू बेस ग्वालियर को हासिल हुआ है क्योंकि यही एयरक्राफ्ट इजरायली बमों को फायर करने में सक्षम है। भारतीय वायुसेना ने इजरायल के साथ मार्क 84 वारहेड और बमों को हासिल करने के लिए 250 करोड़ रु. के समझौते पर हस्ताक्षर किया था। इसमें बिल्डिंग को पूरी तरह ध्वस्त करने की क्षमता है।

    बमों की खरीद के लिए जून में इजरायल के साथ करार किया था।

    बमों की खरीद के लिए जून में इजरायल के साथ करार किया था।

    उन्होंने बताया कि यह समझौता इसी साल जून में 100 स्पाइस बमों को हासिल करने के लिए हुआ था। भारतीय वायुसेना ने 100 से अधिक स्पाइस 2000 बमों की खरीद के लिए जून में इजरायल के साथ करार किया था। वायुसेना बालाकोट स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर सफलतापूर्वक एयर स्ट्राइक करने के बाद इन बमों को हासिल करना चाहती थी। वायुसेना ने आतंकियों के ठिकानों पर मिराज-2000 लड़ाकू विमान से स्पाइस-2000 बमों को गिराया था। बालाकोट एयर स्ट्राइक में जिन स्पाइस बमों का इस्तेमाल हुआ, वे पेनीट्रेटर वर्जन के थे।

    लेजर गाइडेड बम सटीक निशाने पर तबाही मचाने के लिए सबसे बेहतर

    लेजर गाइडेड बम सटीक निशाने पर तबाही मचाने के लिए सबसे बेहतर

    स्पाइस-2000 बम किसी इमारत को पूरी तरह से ध्वस्त करने की क्षमता रखता है।एक टन वजनी स्पाइस बम अपने लक्ष्य पर बेहद सटीक मार करने वाले स्मार्ट बम है जो लक्ष्य से 60 किलोमीटर दूर से भी छोड़ा जा सकता है। एक बार विमान से दागे जाने के बाद स्पाइस बम खुद ग्लाइड करते हुए अपने लक्ष्य तक पहुंचता है। ये लेजर गाइडेड बम सटीक निशाने पर तबाही मचाने के लिए सबसे बेहतर माने जाते हैं।

    हरियाणा NRC के समर्थन में आए भूपेंद्र हुड्डा, कही ये बड़ी बात

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    IAF has started receiving Balakot air strike- fame Spice 2000 bombs at Gwalior airbase
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X