• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

घर जाने की आस में मुंबई के स्टेशन पर प्रवासी मजदूरों की भीड़, नहीं मिल रही ट्रेन

|

मुंबई। लॉकडाउन की वजह से काफी लंबे समय से महाराष्ट्र में फंसे प्रवासी मजदूर अपने घर जाने की उम्मीद में रेलवे स्टेशन पर बड़ी संख्या में जमा हो रहे हैं। प्रवासी मजदूरों को उम्मीद है कि वह अपने घर जाने के लिए मुंबई के सीएसटी टर्मिनल पर ट्रेन पकड़ सकते हैं। मंगलवार दोपहर से ही बड़ी संख्या में मजदूरों के इकट्ठा होने का सिलसिला जारी है और देर रात तक इनकी भीड़ यहां जमा रही। सीएसटी रेलवे स्टेशन पर इतनी बड़ी संख्या में मजदूरों की भीड़ लगातार इकट्ठा हो रही है, लेकिन इनमे से कई मजदूर ट्रेन नहीं पकड़ पा रहे हैं क्योंकि ये स्पेशल ट्रेन में यात्रा करने के लिए अपना रजिस्ट्रेशन नहीं करा सके हैं।

migrant

घर जाने की आस

सीएसटी स्टेशन पर हजारों की संख्या में मजदूर अपना सामान लिए काफी समय से अपनी बारी आने का इंतजार कर रहे हैं। इससे पहले पिछले मंगलवार को इतनी बड़ी संख्या में मजदूर बांद्रा टर्मिलन पर जमा हुए थे। इन सभी मजदूरों ने तबतक इंतजार किया जबतक पुलिस ने इन्हें वापस नहीं भेज दिया। बता दे कि स्पेशल ट्रेन में सिर्फ उन्हीं मजदूरों को यात्रा करने की अनुमति है जिनका रजिस्ट्रेशन हो चुका है। मुंबई पुलिस को रजिस्ट्रेशन कराने का जिम्मा दिया गया है, उसका आरोप है कि केंद्र की वजह से मजदूरों की भीड़ बढ़ रही है।

महाराष्ट्र सरकार ने केंद्र पर लगाया राजनीति करने का आरोप

मंगलवार को महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक केंद्र सरकार पर इस पूरे मामले में राजनीति करने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि पिछले दो दिनों से रेलवे मंत्रालय सिर्फ राजनीति कर रहा है। रेलवे ने लोकमान्य तिलक रेलवे स्टेशन से सिर्फ 49 ट्रेनों के संचालन की अनुमति दी है। लेकिन डीआरएम का कहना है कि वह 16 से अधिक ट्रेनों के संचालन की अनुमति नहीं दे सकते हैं। 49 ट्रेनों के यात्री स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जितनी ट्रेनों की मांग की थी, उसमे से सिर्फ आधी ही ट्रेन हमें अभी तक मिली है। मुझे लगता है कि पीयूष गोयल जानबूझकर राजनीति कर रहे हैं।

पीयूष गोयल का ठाकरे सरकार पर हमला

इससे पहले रेल मंत्री पीयूष गोयल ने एक साथ कई ट्वीट करके महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पर आरोप लगाया था कि उनका मंत्रालय दिन रात काम कर रहा है ताकि एक घंटे के भीतर ट्रेनों को रवाना किया जा सके। हम उद्धव ठाकरे की ओर से यात्रियों और उनके गंतव्य स्थान की लिस्ट का इंतजार कर रहे हैं। मंगलवार को पीयूष गोयल ने उद्धव ठाकरे पर हमला बोलते हुए कहा था कि रेलवे दोपहर 3 बजे तक सिर्फ 13 ट्रेनें ही चला सका, बावजूद इसके कि उसने 145 ट्रेनें चलाने की योजना बनाई थी, इसकी वजह है यात्रियों की कमी।

इसे भी पढ़ें- स्पेशल ट्रेनों के संचालन शुरू होने के बाद देश में कोरोना के मामलों में 106 फीसदी की बढ़ोतरी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Huge crowd of migrant workers at Mumbai railway station in hope to catch train to reach home.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X