• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सिर के नाप का नहीं मिलता हेलमेट, चालान काटने को लेकर पुलिस उलझन में

|
    Gujarat का ये शख्स नहीं पहनता Helmet, Traffic Police भी नहीं काट पाती Challan | वनइंडिया हिंदी

    नई दिल्ली। गुजरात के छोटा उदेपुर जिले में हेलमेट ना पहनने का एक ऐसा मामला सामने आया है कि पुलिस को भी समझ नहीं आ रहा कि यहां कौन सा कानून लागू होगा। जिले के बोडेली कस्‍बे में ट्रैफिक पुलिस ने एक शख्स को बिना हेलमेट बाइक चलाने पर रोका। पुलिस ने चालान काटने की बात कही तो उसने कहा कि वो हेलमेट पहनना चाहता है लेकिन सिर इतना बड़ा है कि हेलमेट मिल ही नहीं रहा। पुलिस ने भी पाया कि उसकी बात सही है, जिसके बाद उसका चालान नहीं किया गया।

    पुलिस ने भी देखा, सिर में तो हेलमेट आता ही नहीं

    पुलिस ने भी देखा, सिर में तो हेलमेट आता ही नहीं

    नए मोटर व्‍हीकल एक्‍ट के लागू होने के बाद यातायात के नियमों को लेकर ट्रैफिक पुलस सख्‍त दिख रही है। गुजरात पुलिस ने सोमवार को जाकिर नाम के शख्‍स को बिना हैलमेट गाड़ी चलाते हुए पकड़ा। उसने पुलिस को बताया कि उसके पास सारे कागजात बाइक के हैं और हेलमेट भी घर पर है। हेलमेट उसके सिर में आता ही नहीं क्योंकि सिर बहुत बड़ा है। इस पर पुलिस को यकीन नहीं आया और इसे बहाना मानते हुए कई हेलमेट उसे पहनने को दिए लेकिन कोई हेलमेट उसके सिर में आया ही नहीं।

    पुलिस ने नहीं काटा चालान

    पुलिस ने नहीं काटा चालान

    पुलिस ने जब जाकिर की बात सुनी तो उनको भी यकीन आ गया कि इसकी परेशानी तो जायज है। पुलिस बी उलझन में पड़ गई कि उसका चालान काटा जाए या छोड़ा जाए। बोडेली के ट्रैफिक ब्रांच में सब इंस्‍पेक्‍टर वसंत राठवा का कहना है कि जाकिर की समस्‍या अजीब है लेकिन उनकी तो इसमें गलती नहीं है। ऐसे में हमने उनका चालान नहीं काटा। उनके पास सभी वैध कागजात हैं, हेलमेट ना पहनना उनकी मजबूरी है।

    MV Act तोड़ने पर यहां जुर्माना नहीं लेगी पुलिस, ड्राइविंग लाइसेंस बनवाएगी और फ्री हेलमेट भी देगीMV Act तोड़ने पर यहां जुर्माना नहीं लेगी पुलिस, ड्राइविंग लाइसेंस बनवाएगी और फ्री हेलमेट भी देगी

    मैं हेलमेट के लिए पूरे जिले में घूम चुका

    मैं हेलमेट के लिए पूरे जिले में घूम चुका

    जाकिर का कहना है कि जिले में घूम-घूम कर अपने सिर का हेलमेट तलाश चुका है। ट्रैफिक पुलिस उसे रोकती है तो बुरा लगता है लेकिन क्या करे जब उसके सिर के साइज का हेलमेट मिलता ही नहीं। जाकिर का कहना है कि मैं सारे कागजात अपने साथ रखता हूं, लेकिन हैलमेट का क्‍या करूं। आखिर में पुलिस को अपनी मजबूरी बताता हूं।

    कंपनी ने कर्मचारियों को दिया तनख्वाह तय करने का मौका, महिला ने साढ़े लाख बढ़ा ली सैलरीकंपनी ने कर्मचारियों को दिया तनख्वाह तय करने का मौका, महिला ने साढ़े लाख बढ़ा ली सैलरी

    English summary
    gujarat man head size so big no helmet fit head traffic rules
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X