• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

गिरिराज सिंह- हरे झंडो पर बैन लगाए चुनाव आयोग, ये नफरत फैलाते हैं और पाकिस्तान में इस्तेमाल होने की धारणा बनाते हैं

|

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के नेता गिरिराज सिंह ने मंगलवार को हरे झंडो को लेकर बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग को हरे झंडो के इस्तेमाल पर बैन लगा देना चाहिए। उन्होंने कहा कि इन झंडो को मुस्लिम समुदाय के राजनीतिक और धार्मिक निकायों से जोड़कर देखा जाता है। गौरतलब है कि गिरिराज सिंह इस बार बिहार के बेगुसराय से पूर्व जेएनयू नेता कन्हैया कुमार के खिलाफ मैदान में हैं। गिरिराज सिंह अक्सर अपने 'विवादित' बयानों के लिए सुर्खियों में रहते हैं।

'हरे झंडे के इस्तेमाल पर लगे बैन'

'हरे झंडे के इस्तेमाल पर लगे बैन'

गिरिराज सिंह ने कहा कि भारतीय निर्वाचन आयोग को हरे झंडे के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अक्सर मुसलमानों से जुड़े राजनीतिक और धार्मिक निकायों पर ये आरोप लगाया जाता है कि वे नफरत फैलाते हैं और पाकिस्तान में इस्तेमाल किए जाने की धारणा बनाते हैं। गिरिराज सिंह को अपने कट्टर हिंदुत्व के विचारों के लिए जाना जाता है, जो अक्सर विवादों को जन्म देता है। उन्होंने कहा कि बेगुसराय में उनकी लड़ाई भारत को 'तोड़ने' के लिए काम करने वाले 'गिरोह' के खिलाफ है। उन्होंने आगे कहा कि वो सांस्कृतिक राष्ट्रवाद और विकास के एजेंडे का प्रतिनिधित्व करते हैं।

'2014 से ज्यादा सीटें जीतेंगे'

'2014 से ज्यादा सीटें जीतेंगे'

पीटीआई को दिए गए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि बीजेपी री अगुवाई वाली एनडीए बिहार में 2014 लोकसभा के प्रदर्शन में सुधार करेगी। बीजेपी ने सहयोगियों के साथ मिलकर 2014 में 31 सीटें जीती थी। बिहार में कुल 40 लोकसभा सीटें हैं। उन्होंने आगे कहा कि पीएम मोदी खुद प्रत्येक सीट पर गठबंधन के उम्मीदवार हैं तथा सभी प्रत्याशी "उनके ही प्रतीक'' हैं।

गिरिराज सिंह त्रिकोणीय संघर्ष में फंसे

गिरिराज सिंह त्रिकोणीय संघर्ष में फंसे

गिरिराज सिंह को लोकसभा चुनाव 2019 में बेगुसराय सीट में भाकपा के युवा नेता कन्हैया कुमार और आरजेडी के तनवीर हसन के साथ त्रिकोणीय मुकाबले का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने साल 2014 में नवादा लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा था और उन्होंने 1.4 लाख वोटों के अंतर से जीत हासिल की थी। लेकिन इस बार पार्टी ने उन्हें बेगुसराय भेज दिया है। उन्होंने इसे लेकर अपनी नाराजगी भी जताई थी, लेकिन केंद्रीय नेतृत्व ने उन्हें मना लिया था। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने खुद उनसे बात की थी। इस सीट की इस चुनावों में खूब चर्चा हो रही है कि क्योंकि जेएनयू के पूर्व छात्र नेता कन्हैया कुमार खुद को भगवा विचारधारा को चुनौती देने वाले उम्मीदवार के रूप में पेश कर रहे हैं ,वहीं गिरिराज सिंह को बीजेपी के कट्टर हिंदुत्व के चेहरे के तौर देखा जाता है। इल सीट पर 29 अप्रैल को चुनाव होना है।

ये भी पढ़ें- बेगूसराय लोकसभा सीट की विस्तृत जानकारी

गिरिराज ने कन्हैया पर साधा निशाना

गिरिराज ने कन्हैया पर साधा निशाना

गिरिराज सिंह ने दावा किया कि अलगाववाद एवं आतंकवाद के समर्थक बेगुसराय लोकसभा सीट में इकठ्ठा हो गए हैं। उन्होंने ये हमला कन्हैया कुमार पर किया जिन पर कथित रूप से जेएनयू में छात्र संघ अध्यक्ष रहते हुए भारत विरोधी नारे लगाने के आरोप हैं। हालांकि कन्हैया ने इन आरोपों को खारिज किया है। सिंह ने दावा किया कि विपक्षी दल सांप्रदायिक लाइन पर चलकर वोटों का ध्रुवीकरण करने की कोशिश कर रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू के संदर्भ में उन्होंने कहा कि हाल ही में बिहार में एक चुनावी रैली में उन्होंने कहा था कि मुसलमान मोदी को सत्ता से बाहर करने के लिए एकजुट होकर वोट करें। चुनाव आयोग ने कल सिद्धू के प्रचार करने पर 72 घंटे का बैन लगा दिया है।

ये भी पढ़ें- कांग्रेस का पीएम मोदी पर गंभीर आरोप, 23 मई को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 5 से 10 रुपये की बढ़ोतरी करने की तैयारी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Giriraj Singh says election Commission ban the use of green flags
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X