• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

किसानों ने खेतों में खड़ी फसल पर चलाया ट्रैक्टर तो राकेश टिकैत ने की अपील, कही ये बात

|

Farmers protest: Rakesh Tikait on Kisan Andolan: भारतीय किसान यूनियन (BKU) के राष्ट्रीय प्रवक्ता और किसान नेता राकेश टिकैत ने खेतों में खड़ी फसल पर ट्रैक्टर चलाने वाले किसानों से अपील की है। राकेश टिकैत ने अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए कहा है कि किसानों से अपील है कि वो खेतों में खड़ी फसल पर ट्रैक्टर ना चलाएं। राकेश टिकैत ने एक खबर को रिट्वीट करते हुए कहा, ''किसान से अपील है कि ऐसा मत करे। यह करने ले लिए नहीं कहा गया था।'' राकेश टिकैत ने जिस खबर पर ट्वीट किया, उसमें लिखा था, कृषि बिल के विरोध में किसान ने अपनी 8 बीघा गेहूं की खड़ी फसल पर ट्रैक्टर चलाकार नष्ट कर दिया। ये मामला उत्तर प्रदेश के थाना खतौली कोतवाली क्षेत्र के गांव भैंसी का है। किसान आंदोलन के लिए राकेश टिकैत गाजीपुर बॉर्डर पर नवंबर 2020 से डेरा डाले हुए हैं।

Rakesh Tikait
    Farmers Protest: संयुक्त किसान मोर्चा ने बताया अब तक कितने किसानों की गई जान | वनइंडिया हिंदी

    किसान नेता राकेश टिकैत ने केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन के लिए समर्थन मांगने के लिए सोमवार (22 फरवरी) को राजस्थान और हरियाणा में महापंचायत कर रहे हैं। आज 22 फरवरी को 12 बजे अनाज मंडी खरखौदा हरियाणा में राकेश टिकैट ने महापंचायत किया। जिसके बाद वह राजस्थान के लिए रवाना होंगे, राजस्थान में राकेश टिकैत 22 फरवरी से 26 तक महापंचायत करेंगे। आज की शाम राजस्थान के जिला हनुमानगढ़ के नोहर में राकेश किसान महापंचायत को संबोधित करेंगे। वहीं 23 फरवरी को सरदारशहर चूरू में किसान महापंचायत करेंगे, 25 फरवरी को जिला करौली के करीरी टोडाभीम और 26 फरवरी को गंगानगर के पदमपुर मंडी में टिकैत महापंचायत में अपनी बात रखेंगे।

    राकेश टिकैत ने कहा है कि किसान आंदोलन को मजबूती देने के लिए वह जल्द गुजरात का दौरा करेंगे। राकेश टिकैत ने ये बयान दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा पर गाजीपुर में गुजरात और महाराष्ट्र के किसानों के एक समूह से मुलाकात करने के बाद की। राकेश टिकैत ने कहा, किसान अंत में अपनी कृषि उपज का कोई हिस्सा नहीं ले पाएंगे क्योंकि नए कानून सिर्फ और सिर्फ कॉरपोरेट का पक्ष लेने वाले हैं। राकेश टिकैत ने कहा, हम ऐसी स्थिति नहीं होने देंगे कि इस देश की फसल को कॉरपोरेट नियंत्रित करे।

    बता दें कि दिल्ली के गाजीपुर, सिंघू, टीकरी बॉर्डर पर हजारों किसान प्रदर्शन कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं। किसान आंदोलन में शामिल किसानों की मांग है कि केंद्र सरकार तीन नए कृषि कानूनों को रद्द करे और न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) देने के लिए कानून बनाए।

    ये भी पढ़ें- किसान आंदोलन: कृषि कानूनों के विरोध में 248 किसानों की हुई मौत, अकेले पंजाब से थे 202

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Farmers protest: Rakesh Tikait appealed for farmers to run tractor on growing crop in the fields
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X