• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

किसान नेताओं ने कहा, किसान आंदोलन को वापस लेने के लिए उन्हें आ रहे धमकी भरे फोन

|

नई दिल्ली। Farmer protest: शुक्रवार को एक किसान नेता उस वक्त क्रोधित हो गए जब सरकार से इस मुद्दे पर बातचीत करने के लिए जाते वक्त उनके वाहन को दिल्ली पुलिस द्वारा रोक लिया गया। वहीं दो अन्य किसान नेताओं ने आरोप लगाया कि उन्हें कृषि कानून के खिलाफ हो रहे विरोध को वापस लेने लिए फोन पर धमकी मिल रही है।

farmer protest
    Farm Laws: Republic Day पर किसानों की Tractor Parade को Delhi Police की हरी झंडी | वनइंडिया हिंदी

    कीर्ति किसान यूनियन के प्रमुख डॉ. दर्शन पाल ने आरोप लगाया कि एक प्राइवेट नंबर से उन्हें धमकी भरा फोन आया। उनके अलावा भारतीय किसान यूनियन के प्रमख राकेश टिकैत ने भी उनके नंबर पर धमकी भरा फोन आने की बात कही है। दोनों किसान नेताओं ने विज्ञान भवन में एक मीटिंग के दौरान ये आरोप लगाए।

    डॉ. पाल को फोन पर मिलीं धमकियों को लेकर अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के कार्यकारी सदस्य जगमोहन सिंह पटियाला ने कहा, "डॉ. पाल ने हमें बताया कि उन्हें धमकी भरे फोन आए और फोन करने वाले ने अभद्र भाषा का भी प्रयोग किया। उसने कहा कि धरने को जल्दी वापस ले लो अन्यथा गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। बिल्कुल इसी तरह की घटना टिकैत के साथ भी हुई है।" उन्होंने आगे कहा, "हम इन फोन कॉल्स को किसी के साथ नहीं जोड़ रहे हैं लेकिन हमने इन घटनाओं से केंद्रीय मंत्रियों को अवगत करा दिया है।

    Mood of the Nation poll: 80 फीसदी लोगों की राय, किसान आंदोलन पर ठीक है मोदी सरकार की नीति

    वहीं बात अगर वाहन रोके जाने वाली घटना की करें तो वह वाहन रुल्दू सिंह मनसा का था जिसे प्रगति मैदान के पास रोका गया था। उन्होंने कहा," जब मेरी गाड़ी रोकी गई उस समय मैं कृषि बिल के मुद्दे पर सरकार से बातचीत करने के लिए जा रहा था...हम खुद ही रुक रहे थे लेकिन पुलिस ने पीछे से गाड़ी में डंडा मारा।"

    हालांकि इस घटना का जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है उसमें दिखाई दे रहा है कि रुल्दू सिंह सिद्धू अपनी गाड़ी के पीछे के शीशे को स्वयं तोड़ रहे हैं जिसके बाद शीशा टूट जाता है। राकेश टिकैत भी रुल्लू सिंह की कार के पीछे थे और अपनी कार से इस बात पर आपत्ति जता रहे थे कि अचानक रुल्दू को क्यों रोका गया।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Farmer leaders said, they received threatening calls to withdraw the peasant movement
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X