• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

आज दिल्ली में दर्ज हुई सीजन की सबसे खराब वायु गुणवत्ता, दर्ज हुआ 304 एक्यूआई

|

नई दिल्ली। सर्दी शुरू होने से पहले ही दिल्ली में एक बार फिर से हवा की गुणवत्ता काफी खराब हो गई है। केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड के आंकड़ों के मुताबिक, राजधानी दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) मंगलवार सुबह 304 अंकों के साथ 'बेहद खराब' श्रेणी में पहुंच गया। मंगलवार को इस मौसम में पहली बार हवा की गुणवत्ता इतनी खराब हुई है। हवा की गति कम होने और तापमान कम होने के चलते प्रदूषक तत्त्वों के हवा में जमा होने के कारण हवा की गुणवत्ता में खराबी देखने को मिली है।

    Air Pollution: केंद्र सरकार पर बरसे Delhi के Deputy CM Manish Sisodia, बोले ये | वनइंडिया हिंदी
    7 माह में पहली बार हवा हुई इतनी खराब

    7 माह में पहली बार हवा हुई इतनी खराब

    पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के एयर क्वालिटी अर्ली वार्निंग सिस्टम के अनुसार, पंजाब, हरियाणा और पाकिस्तान के नजदीकी क्षेत्रों में खेतों में पराली जलाने की घटना में वृद्धि भी दिल्ली-एनसीआर में एयर क्वालिटी को प्रभावित करने वाली है। दिल्ली में में सुबह 9:30 बजे एयर क्वालिटी इंडेक्स 304 दर्ज किया, जो "बहुत खराब" श्रेणी में आता है। सोमवार को 24 घंटे का औसत एक्यूआई 261 रहा, जो फरवरी के बाद से सबसे खराब है। यह औसत रविवार को 216 और शनिवार को 221 दर्ज किया गया था।

    राजधानी का सबसे अधिक स्वच्छ क्षेत्र लोधी रोड रहा

    राजधानी का सबसे अधिक स्वच्छ क्षेत्र लोधी रोड रहा

    प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार, 36 प्रदूषण निगरानी स्टेशनों में से 19 स्टेशनों में वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘बहुत खराब' श्रेणी में दर्ज किया गया, वहीं 14 स्टेशनों ने सूचकांक को ‘खराब' श्रेणी में दर्ज किया, जबकि एक ने इसे ‘मध्यम' श्रेणी में रिकॉर्ड किया है। दिल्ली के वजीरपुर में एक्यूआई 380, विवेक विहार में 355 और जहाँगीरपुरी में 349 रही, जहां सबसे अधिक प्रदूषण का स्तर दर्ज किया गया। वहीं लोधी रोड पर एक्यूआई 193 रहा, जो कि राजधानी का सबसे अधिक स्वच्छ क्षेत्र रहा।

    नोएडा में भी हवा की गुणवत्ता बहुत खराब दर्ज की गई

    नोएडा में भी हवा की गुणवत्ता बहुत खराब दर्ज की गई

    सीपीसीबी के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर में पीएम10 का स्तर सुबह नौ बजे 300 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर रहा। भारत में 100 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर से नीचे पीएम10 का स्तर सुरक्षित माना जाता है। दिल्ली के पड़ोसी क्षेत्रों, गाजियाबाद, फरीदाबाद, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में भी हवा की गुणवत्ता बहुत खराब दर्ज की गई। अभी ग्रेटर नोएडा की हवा इन सभी में सबसे ज्यादा प्रदूषित है। नासा के कृत्रिम उपग्रह द्वारा ली गई तस्वीरों के मुताबिक, पंजाब के अमृतसर और फिरोजपुर और हरियाणा के पटियाला, अंबाला और कैथल के पास बड़े पैमाने पर आग जलती हुई दिखाई दी।

    सीमा विवाद के बीच चीन बोला-भारत ने गैरकानूनी तरीके से लद्दाख को बनाया केंद्रशासित प्रदेश

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    delhi 's air quality was in the “very poor” category on Tuesday morning, the first time this season
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X