• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कांग्रेस ने राफेल डील को लेकर फिर उठाए सवाल, पूछा राफेल डील में किसे दिए करोड़ों के 'गिफ्ट'?

|

नई दिल्ली। भारत और फ्रांस के बीच हुए राफेल फाइटर प्‍लेन डील को लेकर एक बार फिर कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता रणदीप सुरजेवाला ने मोदी सरकार पर हमला किया है। कांग्रेस ने ये हमला फ्रांस के पब्लिकेशन मीडिया पार्ट में छपी रिपोर्ट के दावे को संज्ञान में लेते हुए किया है। इस रिपोर्ट में लिखा है कि 2016 में भारत और फ्रांस के बीच राफेल डील हुई थी। उस समय फ्रांस की दसॉ एविएशन ने इस डील के लिए भारत में एक मीडिएटर को 1.1 मिलियम यूरो दिए थे। इस खुलासे को लेकर अब कांग्रेस ने भाजपा सरकार से कई सवाल पूछे हैं।

rafail
    वायुसेना की बढ़ेगी ताकत, अगले हफ्ते आ रहे 3 राफेल, अप्रैल में 9 और फाइटर होंगे शामिल

    रणदीप सूरजेवाला ने प्रेस कान्‍फ्रेंस में मोदी सरकार से सवाल किया है कि 60 हजार करोड़ रुपए की इस राफेल डील में 1.1 मिलियन यूरो के गिफ्ट किसे दिए गए ? बता दें फ्रांस के पब्लिलेशन ने जिसनेअपनी रिपोर्ट में ये दावा किया है उसके अनुसार फ्रांस की एंटी करप्‍शन एजेंसी ने दसॉ के अकाउंट का जब ऑडिट किया तब ये खुलासा हुआ कि भारत फ्रांस के बीच हुई राफेल डील में दसॉ एविएशन ने भारत के एक बिचौलिए को 1.1 मिलियन यूरो दिया था। इस ऑडिट रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि 2017 में दसॉ ग्रुप के अकाउंट 508935 यूरो गिफ्ट टू क्‍लाइंट्स ट्रांसफर हुए।

    कांग्रेस ने पूछे ये सवाल

    कांग्रेस नेता ने अपनी प्रेस कान्‍फ्रेस में कहा इस पूरे लेन-देन को गिफ्ट टू क्‍लाइंट्स नाम दिया गया। अगर ये जहाज के मॉडल बनाने के रुपए थे तो इसे गिफ्ट टू क्लाइंट की क्यों संज्ञा दी गई इसे ये क्यों कहा। कांग्रेस नेता ने सवाल पूछा कि क्या ये छिपे हुए ट्रांजेक्‍शन का हिस्‍सा था। उन्‍होंने कहाजिस कंपनी को पैसे दिए गए वो कंपनी मॉडल का निर्माण नहीं करती हैं। नेता ने कहा 60 हजार रुपए के राफेल सौदे से जुड़ी सारी सच्‍चाई इस रिपोर्ट के बाद सबके सामने आ चुका है इसका खुलासा हमनें नहीं फ्रांस की एजेंसी ने किया है।

    रक्षा मंत्रालय की डील में बिचौलिए कैसे शामिल हुए

    कांग्रेस नेता ने सवाल पूछा है कि क्या ये जो 1.1 मिलियन यूरो का जो क्लाइंट गिफ्ट दिखा रहा वो राफेल डील को करवाने के लिए बिचौलियों को दिए ? अगर दो देशों के रक्षा मंत्रालय के बीच ये सौदा हुआ तो इसमें बिचौलिए कैसे शामिल हुए। उन्‍होंने पूछा क्या इससे सवाल नहीं उठ रहे? इसके साथ ही उन्‍होंने मांग की कि इस पूरे मामले की जांच होना चाहिए ताकि पता चल सके कि किसे इतनी मोटी रकम दी गई है। आखिरी सवाल सुरेजवालाने पीएम से किया कि क्या इस पर कुछ बोलेंगे।

    https://hindi.oneindia.com/photos/american-model-kelly-kelly-s-hot-pics-oi60660.html

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Congress again raised questions about Rafael Deal, asked who got 'gift' of crores in Rafale Deal?
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X