• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

दिल्ली हिंसा के चलते अपना घर छोड़ने वालों से केजरीवाल ने वापस लौटने की अपील की

|

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजीरवाल ने शनिवार को तमाम उन लोगों से दिल्ली लौटने की अपील की है जो हिंसा के दौरान दिल्ली से पलायन कर गए थे। केजरीवाल ने कहा कि जो लोग डर की वजह से अपने घर छोड़कर चले गए थे वह वापस अपने घर लौट आएं और भाईचारे के साथ रहे। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने शनिवार को उत्तर पूर्व के जिलाधिकारी कार्यालय में हिंसा से प्रभावित लोगों के लिए राहत और पुनर्वास के कामों की समीक्षा की। इस बैठक में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और प्रदेश के मुख्य सचिव, एसडीएम समेत तमाम अधिकारी मौजूद थे।

ak

मुआवजे के लिए भटकना नहीं होगा

केजरीवाल ने कहा कि हिंसा प्रभावित लोगों को आर्थिक मदद देने की तत्काल कार्रवाई शुरू कर दी गई है। शनिवार को जिन लोगों को फॉर्म दिए गए हैं उन्हें रविवार की सवबह तक 25-25 हजार रुपए की नगद मदद दे दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिंसा प्रभावित लोगों को मुआवजे के लिए भटकना नहीं होगा। वहीं हिंसा को देखते हुए सभी प्रभावित इलाकों में सीबीएसई की बोर्ड परीक्षा को कुछ दिनों के लिए स्थगित करने करने की अपील की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी पहली प्राथमिकता है लोगों की जिंदगी फिर से पटरी पर आए, इस दिशा में सरकार जो मदद कर सकती है वह करेगी।

25-25 हजार की तत्काल मदद

केजरीवाल ने कहा कि हिंसा प्रभावित लोगों को आर्थिक मदद देने की तत्काल कार्रवाई शुरू कर दी गई है। शनिवार को जिन लोगों को फॉर्म दिए गए हैं उन्हें रविवार की सुबह तक 25-25 हजार रुपए की नगद मदद दे दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिंसा प्रभावित लोगों को मुआवजे के लिए भटकना नहीं होगा। वहीं हिंसा को देखते हुए सभी प्रभावित इलाकों में सीबीएसई की बोर्ड परीक्षा को कुछ दिनों के लिए स्थगित करने करने की अपील की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी पहली प्राथमिकता है लोगों की जिंदगी फिर से पटरी पर आए, इस दिशा में सरकार जो मदद कर सकती है वह करेगी।

मदद के लिए संपर्क कर सकते हैं

अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दंगा पीड़ितों की मदद के लिए हम बहुत बड़े स्तर पर खाना पहुंचा रहे हैं। आज से बड़े स्तर पर ये काम हो रहा है। केजरीवाल ने बताया कि मदद के लिए हमें फोन आ रहे हैं। अगर कोई इस प्रकार मदद करना चाहता है तो नॉर्थ ईस्ट के DM से संपर्क कर सकता है। केजरीवाल ने बताया कि घायलों का इलाज चल रहा है। ऐसा भी सामने एया है कि कुछ लोग गंभीर हैं। ऐसे में जरूरत हुई तो सरकार अपने खर्च पर प्राइवेट अस्पतालों में इनका इलाज कराएगी। प्रभावित क्षेत्र में चार सब डिविजन हैं। दिल्ली सीएम ने बताया कि सामान्य हालात में वहां चार एसडीएम होते हैं। सरकार ने यहां 18 एसडीएम तैनात कर दिए हैं। खाने की पर्याप्त व्यवस्था की गई है। ताकि राहत पहुंचने में देर ना हो।

मुआवजे का ऐलान

गुरुवार को दिल्ली सरकार ने हिंसा में प्रभावितों के लिए मुआवजे का ऐलान किया था। हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों को दस लाख रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया। नाबालिग की मौत पर पांच लाख रुपए दिए जाएंगे। अपाहिज होने पर पांच लाख, गंभीर चोट पर दो लाख, मामूली चोट पर बीस हजार रुपये, जानवरों की मौत पर पांच हजार का मुआवजा दिया जाएगा। पूरा मकान और पूरी दुकान जलने पर पांच लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। यदि घर को नुकसान पहुंचा है तो ढाई लाख का मुआवजा दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें- मेघालय में झड़प में 2 की मौत, छह जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Arvind Kejriwal appeals to people to return home who leave their home after violence.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X