• search
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

    हाई वोल्टेज ड्रामे और मनौने के बाद ट्रैक पर आये आप नेता 'बिन्नी'

    |
    नई दिल्ली। आखिरकार हाई वोल्टेज लंबे ड्रामे और मान-मनौव्वल के बाद आप नेता विनोद कुमार 'बिन्नी' ट्रैक पर आ गये हैं औऱ उनके बगावत के सुर बदल गये हैं।

    आज एक बड़ा खुलासा करने का दावा करने वाले विनोद कुमार 'बिन्नी' ने कहा कि मैं पार्टी या पार्टी वालों, किसी से भी नाराज नहीं था इसलिए इस बात को तूल ना दिया जाये। रही बात पार्टी की बैठक से तेजी से निकलने की बात तो आप को बता दूं कि मुझे शादी में जाना था इसलिए जल्दी निकल आया था।

    प्राप्त जानकारी के मुताबिक मंगवलार रात को कवि कुमार विश्वास औऱ संजय सिंह ने वसुंधरा एंक्‍लेव में बिन्‍नी के घर जाकर उनसे मुलाकात की और उन्हें मनाने की कोशिश की , तीनों लोगों के बीच में करीब तीन घंटे तक वार्ता होती रही।

    तीन घंटे की मुलाकात के बाद बिन्‍नी के सुर बदले और उन्होंने कहा कि मैंने तो कभी नहीं कहा कि वह मंत्री बनना चाहते हैं, जो कुछ भी कहा जा रहा है वह मीडिया की ओर से फैलायी गयी गलतफहमी है। उनके नेता अरविंद केजरीवाल को ही हक है कि वह पार्टी में किसे क्या पद देते हैं, ऐसे में मेरा मंत्री बनने की बात कहना बेमानी था, अगर पार्टी कोई पद उन्‍हें देती है तो मैं फैसला लूंगा कि मैं वह लूं या ना लूं।

    कुमार विश्वास और संजय सिंह की मुलाकात को सामान्य बताते हुए बिन्नी ने कहा कि हमारे बीच में सामान्य बातचीत हुई। वह शाम को मैं अपने किसी नजदीक की शादी में शामिल होने के लिए मात्र 10 मिनट के लिए पार्टी की मीटिंग में शामिल हो पाया था इसलिए मेरे बड़े भाई जैसे कुमार विश्वास और संजय सिंह ने मेरे घर आकर मुझसे मुलाकात की बैठक का लेखा-जोखा बताने के लिए।

    गौरतलब है किमंगलवार को आम आदमी पार्टी ने अपने कैबिनेट मंत्रियों की लिस्ट जारी की। इस लिस्ट में 6 मंत्रियों के नाम शामिल थे, लेकिन आप के एकमात्र राजनीतिक अनुभव विधायक विनोद किुमार बिन्नी का नाम उस लिस्ट में शामिल नहीं था।

    बिन्नी लक्ष्मीनगर विधानसभा क्षेत्र से आप के विधायक है और उन्होंने कांग्रेस के सबसे बड़े दिग्गज नेता एके वालिया को बारी मतों से हराकर अपनी जीत दर्ज की थी।

    वो पहले दो बार निगम पार्षद रह चुके है। उन्हें पूरी उम्मीद थी कि उन्हें मंत्री पद मिलेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ जिसके बाद वह एकदम से भड़क गये थे। बताते चलें आम आदमी पार्टी में विनोद कुमार बिन्नी अकेले ऐसे नेता है जिनके पास राजनीतिक अनुभव है। बावजूद इसके उनका नाम मंत्रीपद में शामिल नहीं किया गया।

    जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें - निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    After high voltage drama issue between aap and vinod kumar binni solved late night. Binny is one of the few AAP legislators who has won an election before. Twice, as a independent MLA. This year, he was one of AAP's giant-slayers, defeating Delhi Health Minister A K Walia in Laxmi Nagar by about 8,000 votes.
    For Daily Alerts

    Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
    पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.

    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more