• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सावधान! बाजार में बिक रहे ब्रांडेड कंडोम में से 5 फीसदी टेस्ट में हुए फेल

|

नई दिल्ली। दुनिया में यौन जनित संक्रमित बीमारियों और अनचाहे गर्भ से बचने का सबसे सुरक्षित उपाय कंडोम हैं। सोचिए यही ब्रांडेड कंडोम अगर क्वालिटी टेस्ट में फेल हो जाते हैं तो ना सिर्फ आपकी जिंदगी को बर्बाद कर सकते हैं बल्कि, आपको बड़ी परेशानी में भी डाल सकते हैं। हाल में एक संस्था द्वारा की गई टेस्टिंग में पाया गया कि, देश में बिक रहे ब्रांडेड कंडोम में से 5 प्रतिशत क्वालिटी चेक में फेल हो गए। इनमें ज्यादातर मामलों में कंडोम का प्रेशर ना झेल पाना और लीकेज की समस्या सामने आई । यह जानकारी हाल ही में दायर की गई एक आरटीआई में सामने आई है।

आरटीआई से हुए खुलासे में 411 सैंपल में से 22 कंडोम (5 फीसदी) फेल हो गए

आरटीआई से हुए खुलासे में 411 सैंपल में से 22 कंडोम (5 फीसदी) फेल हो गए

आरटीआई से हुए खुलासे में 411 सैंपल में से 22 कंडोम (5 फीसदी) फेल हो गए। सैंपल सेंट्रल ड्रग टेस्टिंग लैब (सीडीएलटी) द्वारा की गई इस जांच के बाद स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने इस पूरे मामले के जांच तक के आदेश दिए हैं। लेकिन इस खुलासे से सुरक्षित सेक्स संबंध और अनचाहे गर्भ से बचने को लेकर कंडोम के इस्तेमाल पर अब बड़ा सवाल उठ गया है। जून 2018 से लेकर अप्रैल 2019 तक 411 सैंपल उठाए गए, जिसमें से 22 सैंपल फेल हो गए हैं। यहीं नहीं पिछले साल जुलाई में 66 सैंपल में से सात फेल हो गए थे।

अगर इस तरह से कंडोम फेल हो रहे हैं तो...

अगर इस तरह से कंडोम फेल हो रहे हैं तो...

इस जानकारी के सामने आने के बाद जब डॉक्टरों से इस बारे में पूछा गया तो एक डॉक्टरों का कहना था कि कंडोम का इस्तेमाल सबसे ज्यादा सुरक्षित यौन संबंध के साथ-साथ अनचाहा गर्भ से बचाना है। लेकिन, अगर इस तरह से कंडोम फेल हो रहे हैं तो इसका सीधा असर दोनों पर होगा। लोग यौन संबंधित बीमारियों के शिकार हो सकते हैं, एचआईवी जैसी बीमारी का खतरा हो सकता है, संक्रमित बीमारियां एक से दूसरे में ट्रांसफर हो सकती है।

देश में कंडोम की क्वालिटी चेक करने वाली केवल एक मात्र संस्था है

देश में कंडोम की क्वालिटी चेक करने वाली केवल एक मात्र संस्था है

वहीं सबसे अहम यह है कि अनचाहा गर्भ ठहर सकता है। यह ना केवल शादी शुदा जोड़े के लिए चिंता की बात है बल्कि युवा जोड़ों के लिए भी परेशानी खड़ी कर सकता है। इस सबसे इतर एक और चिंता की बात यह है कि, इतनी बड़ी आबादी वाले देश में कंडोम की क्वालिटी चेक करने वाली केवल एक मात्र संस्था है। आरटीआई में ये भी कहा गया है कि, सभी मामले की रिपोर्ट तैयार करके सरकार को भेज दी गई है। हालांकि यह मालूम नहीं चल सका कि, सरकार की ओर से इस पर एक्शन लिया गया कि नहीं।

गे-कपल लड़कियों से युवकों ने मांगा Kiss, मना करने पर की बेरहमी से पिटाई

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
5 percent of branded condoms failing in quality checks in india
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X