• search
हिमाचल प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Himachal में न बदलेगा रिवाज, न ही त्रिशंकु विधानसभा के आसार, ग्रहों की चाल करेगी BJP का नुकसान

Himachal में न बदलेगा रिवाज, न ही त्रिशंकु विधानसभा के आसार, ग्रहों की चाल करेगी BJP का नुकसान
By विजयेंदर शर्मा
Google Oneindia News

Himachal Pradesh Assembly Elections 2022: हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियां युद्धस्तर पर प्रचार-प्रसार में जुट गई है। तो वहीं, चुनाव लड रहे प्रत्याशी तांत्रिकों और ज्योतिषियों के दरबार में भी दस्तक दे रहे हैं। डेरा ब्यास के राधा स्वामी आश्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हाजिरी से लेकर विवादों में घिरे बलात्कार के मामले में सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम का भी आर्शीवाद लिया गया है। अब दोनों ही दल अपनी अपनी जीत का दावा कर रहे हैं। प्रदेश में 12 नवंबर को मतदान है और इसके लिए कुछ ही दिन अब शेष बचे हैं। लेकिन ज्योतिष की नजर से इस बार भाजपा की हिमाचल में सत्ता में वापिसी आसान नहीं है। हालांकि, सत्तारूढ भारतीय जनता पार्टी ने इस बार सत्ता बदलने को रोकने के लिए रिवाज बदलने का नारा दिया है।

Himachal Pradesh Assembly Elections

प्रदेश में हर बार भाजपा और कांग्रेस सत्ता में अदला बदली करती रही हैं। भाजपा के दावों के विपरीत ग्रह चाल में ऐसा योग बन रहा है कि इस बार भी सत्ता बदलने के आसार पैदा हो रहे हैं। ग्रह गोचर की स्थिति बता रही है कि प्रदेश में त्रिशंकु विधानसभा की नौबत नहीं आएगी। सत्तारूढ़ दल के सितारे गर्दिश में हैं। ज्योतिष गुरमीत बेदी ने बताया, 12 नवंबर को मतदान के दिन देव गुरु बृहस्पति वक्री अवस्था में होंगे और सूर्य अपनी नीच तुला राशि में बुध और केतु के साथ विराजमान होंगे। जिससे उस दिन त्रिग्रही योग बन रहा है। ग्रहों के सेनापति मंगल ग्रह मिथुन राशि में वक्री अवस्था में होंगे और शुक्र ग्रह मंगल की अपनी शत्रु वृश्चिक राशि में भ्रमण कर रहे होंगे। शनि मकर राशि में और राहु मेष राशि में संचार कर रहे होंगे।

बेदी ने कहा कि भाजपा और कांग्रेस की कोई जन्मकुंडली नहीं है। किस नक्षत्र में किस राजनीतिक दल का जन्म हुआ और किस दल की कुंडली में कौन-कौन सा ग्रह कहां बैठा है, इसकी कोई निश्चित और प्रमाणिक कुंडली नहीं बनाई जा सकती और ना ही उपलब्ध है। परंतु ग्रहों की चाल यह बता देती है कि देशकाल पर उनके गोचर का क्या प्रभाव पड़ने वाला है। गुरमीत बेदी बताते हैं कि ग्रहों के सेनापति मंगल ग्रह का उल्टी चाल चलना यानी वक्री अवस्था में होना राजा के लिए शुभ नहीं होता। राजा का सिहासन डोलता है। ज्योतिष में राजा से अभिप्राय शासन करने वाले से होता है। प्रदेश में इस समय भाजपा का शासन है। मंगल और देव गुरु बृहस्पति का उल्टी चाल चलना यह दर्शाता है कि राजा के कई वजीर हारने वाले हैं। यानि कई मंत्री अपने-अपने हल्के में मूर्छित होने वाले हैं।

ये भी पढ़ें:- Himachal Elections: भटियात सीट पर भाजपा और कांग्रेस में सीधे मुकाबला, BJP का खेल बिगाड़ सकती है AAPये भी पढ़ें:- Himachal Elections: भटियात सीट पर भाजपा और कांग्रेस में सीधे मुकाबला, BJP का खेल बिगाड़ सकती है AAP

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में 12 नवंबर को वोट पड़ने वाले हैं और उस दिन के ग्रहों की स्थिति सत्तारूढ़ दल को झटका देने वाली है। 12 नवंबर से पहले 8 नवंबर को लग रहा चंद्र ग्रहण हिमाचल प्रदेश में सत्तारूढ़ दल की संभावनाओं को ग्रहण लगा रहा है। कई दिग्गज घर बैठने वाले हैं। 25 अक्टूबर को सूर्य ग्रहण लगा था, जिसने दोनों प्रमुख दलों में काफी उथल-पुथल करवाई। लेकिन सत्तारूढ़ दल के सबसे ज्यादा बागी प्रत्याशी मैदान में उतर गए। अब 15 दिन के भीतर लग रहा यह दूसरा ग्रहण यह बता रहा है कि सत्ता पलट होने वाला है। सत्तारूढ़ दल के समीकरण बिगड़ने वाले हैं और निश्चित रूप से जब ग्रहों का खेल सत्तारूढ़ दल को झटका दे रहा है तो विपक्षी दल कांग्रेस के हाथों में लड्डू आने वाले हैं।

Comments
English summary
Himachal Elections 2022 Congress Party Bharatiya Janata Party Astrology
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X