हिमाचल प्रदेश: बागियों के निशाने पर BJP, महिला प्रत्याशियों का एडजस्टमेंट बना मुसीबत

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

शिमला। हिमाचल भाजपा में टिकट आबंटन को लेकर चला आ रहा घमासान खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। पार्टी के फैसले के खिलाफ जगह-जगह विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। भाजपा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दखल के बाद कुछ सीटों पर महिला प्रत्याशी एडजस्ट करने के लिए कुछ सिटिंग विधायकों के भी पत्ते काट दिए हैं लेकिन पार्टी का फैसला नेता पचा नहीं पा रहे हैं। हालांकि आज भाजपा प्रत्याशियों ने अपने नामांकन भरने भी शुरू कर दिए हैं। आज धर्मपुर से भाजपा प्रत्याशी महेंद्र सिंह ने अपना नामांकन भरा है। इस बीच खबर ये भी है कि भाजपा संभावित बगावत से डर की वजह से लिस्ट को वेबसाइट पर अपलोड करने में देरी कर रही है। लेकिन प्रत्याशियों को बता दिया गया है कि उनके टिकट फाइनल हो गए हैं और पार्टी ने एक स्पेशल मेंसेजर के जरिए अथॉरिटी लेटर देने का काम शुरू कर दिया है। वहीं बागियों के तेवर ठंडे नहीं पड़ रहे हैं।

कैंडिडेट्स के ऐलान से BJP को डर!

कैंडिडेट्स के ऐलान से BJP को डर!

धर्मशाला में किशन कपूर जहां बगावत पर अडिग हैं। वहीं आज पालमपुर में भी इंदु गोस्वामी को प्रत्याशी बनाए जाने को लेकर गुस्साए भाजपा कार्यकर्ताओं ने सांसद शांता कुमार के आवास के बाहर जोरदार प्रदर्शन किया। यहां प्रवीण शर्मा का टिकट कटने की अटकलों के बीच कार्यकर्ताओं में रोष है। मंगलवार को भाजपा कार्यकर्ता सांसद शांता कुमार के घर पर पहुंच गए और इंदु गो बैक के नारे लगाए। कार्यकर्ताओं ने शांता कुमार जिंदाबाद, प्रवीण शर्मा जिंदाबाद और तानाशाही नहीं चलेगी के नारे भी लगाए। कार्यकर्ताओं ने चेतावनी दी कि अगर प्रवीण शर्मा को पालमपुर से बीजेपी ने टिकट नहीं दिया तो मंडल के सभी पदाधिकारी अपने इस्तीफे सौंप देंगे। इस दौरान भाजपा नेता प्रवीण शर्मा भी वहीं शांता कुमार के घर पर मौजूद थे मगर उन्होंने चुप्पी साधे रखी और कुछ भी कहने से इनकार किया।

धूमल तक का बदल गया चुनावी क्षेत्र

धूमल तक का बदल गया चुनावी क्षेत्र

कार्यकर्ताओं को शांत करवाते हुए सांसद शांता कुमार ने कहा कि जब तक सूची जारी नहीं होती है तब तक सभी को इंतजार करना चाहिए। उन्होंने सभी पार्टी के नेताओं को मीडिया में बयानबाजी से परहेज करने की नसीहत दी और उम्मीद जताई कि सब ठीक हो जाएगा। शांता कुमार ने कहा कि निराशा जरूर है लेकिन मैं अभी भी आशावान हूं। कार्यकर्ताओं की भावनाओं को मैंने दिल्ली पहुंचा दिया है और सभी अपनी भावनाओं पर काबू रखें। उधर नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल का भी अपना चुनाव क्षेत्र बदल गया है। धूमल ने बताया कि हाईकमान ने उन्हें सुजानपुर से मैदान में उतरने का निर्देश दिया है। हाईकमान के आदेश को मानते हुए वे इस बार हमीरपुर की बजाए सुजानपुर से चुनाव लड़ेंगे। साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि वो 23 अक्टूबर को सुजानपुर विधानसभा क्षेत्र से अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगे।

BJP ने बनाई है एक खास रणनीति!

BJP ने बनाई है एक खास रणनीति!

उन्होंने कहा कि भाजपा सभी प्रत्याशियों की घोषणा एक साथ करेगी और आज सभी उम्मीदवारों का औपचारिक ऐलान कर दिया जाएगा। प्रेम कुमार धूमल सुजानपुर में चुनावी आगाज करने जा रहे हैं। धूमल मंगलवार और बुधवार दो दिन सुजानपुर विधानसभा क्षेत्र में रोड शो करने जा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक भाजपा हाईकमान ने एक खास रणनीति के तहत धूमल को चुनाव लडने के लिए सुजानपुर भेजा है। भाजपा ने कुछ सिटिंग विधायकों के टिकट काटे हैं। शिमला से मौजूदा विधायक सुरेश भार्द्वाज की जगह मधु सूद का नाम तय किया है।

कुछ पाएंगे लाभ तो कई करेंगे संतोष

कुछ पाएंगे लाभ तो कई करेंगे संतोष

वहीं चंबा से विधायक बीके चौहान का टिकट भी कट गया है। उनकी जगह भाजपा के प्रत्याशी पवन नैयर होंगे। झंडूता के विधायक रिखि राम कौंडल को भी इस बार टिकट नहीं मिला है। उनकी जगह जेआर कटवाल प्रत्याशी बनाए गए हैं। जबकि अर्की से गोविंद राम की जगह रतन लाल और भोरंज से अनिल धीमान का टिकट भी काट दिया गया है। यहां कमलेश कुमारी की लॉटरी लगी है।

Read more:VIDEO: मथुरा में बेसहारा महिलाओं के जीवन में कैसे आएगी रोशनी?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Female Candidates become trouble for BJP in Himachal Pradesh

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.