• search
गोंडा न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

गोंडा के ब्राइट फ्यूचर पब्लिक स्कूल में बम ब्लास्ट का खुलासा, वसीम अहमद और साहिल गिरफ्तार

|

गोंडा। यूपी में गोंडा के ब्राइट फ्यूचर पब्लिक स्कूल में हुए ब्लास्ट का पुलिस ने खुलासा कर दिया। पुलिस ने वसीम अहमद और साहिल खान नामक आरोपी अरेस्ट किए हैं। दोनों यूपी के मिर्जापुर व वाराणसी के रहने वाले हैं। दोनों द्वारा ब्लास्ट खोंडारे थाना क्षेत्र के बनगांव में बीती 21 जुलाई को ब्राइट फ्यूचर पब्लिक स्कूल में किया गया था। पकड़े गए आरोपियों ने कड़ी पूछताछ में जुर्म कुबूल लिया और पूरी कहानी बताई।

कर्ज लेने वाले को सबक सिखाने के लिए रची साजिश

कर्ज लेने वाले को सबक सिखाने के लिए रची साजिश

वसीम अहमद और साहिल खान के मुता​बिक, स्कूल के प्रबंधक शमशेर अहमद से उनकी दोस्ती थी। इसी दोस्ती में प्रबंधक ने आरोपियों से 2.50 करोड़ रुपये का कर्ज ले रखा था, लेकिन वह कर्ज चुकाने में आनाकानी कर रहा था और कर्ज चुकाने में हीलाहवाली करने पर आरोपियों ने बम विस्फोट के जरिए प्रबंधक की हत्या कर पूरे स्कूल को उड़ा देने की साजिश रची। शनिवार को पुलिस अधीक्षक राजकरन नैय्यर ने पकड़े गए आरोपियों को मीडिया से सामने पेश कर खुलासे का ब्यौरा पेश किया। एसपी ने बताया कि इस घटना मे शामिल अन्य आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस टीम लगाई गई है।

स्कूल के टायलेट में रखा था बम

स्कूल के टायलेट में रखा था बम

बता दें कि, ब्राइट फ्यूचर पब्लिक स्कूल के टायलेट में 21 जुलाई रविवार तड़के जो बम ब्लास्ट हुआ, उससे स्कूल की दीवार व दरवाजे उड़ गए थे। स्कूल में विस्फोट होने से आसपास के गांवों मे हड़कंप मच गया था। पुलिस छानबीन में स्कूल से छह जिलेटिन की छड़,एक डेटोनेटर,बैट्री बाक्स व करीब चार सौ मीटर लंबा तार बरामद हुआ था। इस मामले में स्कूल प्रबंधक शमशेर अहमद का तहरीर पर खोंडारे थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था।

एनआईए, आईबी व एटीएस ने की थी जांच

एनआईए, आईबी व एटीएस ने की थी जांच

विस्फोट की जांच के लिए मौके पर एनआईए, आईबी व एटीएस की टीम पहुंची थीं। घटना की गंभीरता को देखते हुए स्कूल व आसपास के इलाकों को बारीकी से खंगाला गया था। बरामद विस्फोटक सामग्री की जांच के लिए बम निरोधक दस्ता भी मौके पर पहुंचा था। इन एजेंसियों के अलावा इस मामले की पड़ताल के लिए स्थानीय स्तर पर पुलिस की एसचेक टीम व स्वाट/सर्विवांस टीम भी आरोपियों का सुराग लगाने में जुटी थीं।

बस्ती बार्डर तमंचा के साथ पकड़े गए तीनों

बस्ती बार्डर तमंचा के साथ पकड़े गए तीनों

पुलिस अधीक्षक आरके नैय्यर ने बताया कि शनिवार को पुलिस टीम को सूचना मिली थी कि विस्फोट मामले मे शामिल आरोपी बभनान स्टेशन पर ट्रेन से उतरकर गौरा-चौकी की तरफ जा रहे हैं। इस सूचना पर खोंड़ारे थानाध्यक्ष संजय कुमार व स्वाट टीम प्रभारी अतुल चतुर्वेदी ने अपनी टीम के साथ आरोपियों की घेराबंदी कर उन्हे बस्ती बार्डर के मकोइया मोड़ से गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपियों के पास से पुलिस ने दो तमंचा व चार कारतूस बरामद किया।

मिर्जापुर व वाराणसी के रहने वाले हैं आरोपी

मिर्जापुर व वाराणसी के रहने वाले हैं आरोपी

पुलिस अधीक्षक राजकरन नैय्यर ने बताया कि पकड़े गए आरोपी मिर्जापुर व वाराणसी के रहने वाले हैं। आरोपी वसीम अहमद मिर्जापुर जिले के चुनार थाना क्षेत्र के रामगढ़ दरगाह शरीफ गांव का रहने वाला है जबकि दूसरा आरोपी साहिल खान वाराणसी जनपद के रोहनिया थाना क्षेत्र के बुनकर कालोनी करसड़ा का रहने वाला है। देने आरोपिसों के खिलाफ विस्फोटक अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज कर विधिक कार्रवाई की जा रही है।

इस टीम को मिली सफलता

इस टीम को मिली सफलता

बम विस्फोट के आरोपियों को गिरफ्तार करने में खोंड़ारे थानाध्यक्ष संजय कुमार, गौरा चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक सत्येंद्र वर्मा, उपनिरीक्षक संतोष कुमार, कांस्टेबल अशोक कुमार गौड़, कांस्टेबल नितिन कुमार यादव व स्वाट टीम प्रभारी अतुल चतुर्वेदी व उनकी टीम शामिल रही।

पढ़ें: ह​रियाणा में हत्थे चढ़े 3 जासूस, सैन्य-छावनी के वीडियो बनाकर भेज रहे थे पाकिस्तान, एक ने अपने घर कहा था- बकरा ईद पर लौटूंगा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Bright future public school Khondare bomb blast case reveals, two arrested
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X