• search
फर्रुखाबाद न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

25 हजार इनाम घोषित होने के बाद पूर्व सपा विधायक के बेटे ने कोर्ट पहुंचकर किया आत्मसमर्पण

|

फर्रुखाबाद। विधायिका उर्मिला राजपूत के आरोपी पुत्र पंचशील राजपूत ने फतेहगढ़ की सीजेएम की अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया है। पंचशील पर पुलिस ने 25 हजार का इनाम घोषित कर रखा था। गिरफ्तारी के लिए दबाव बनाने के लिए पंचशील के पिता रामकृष्ण राजपूत व पत्नी उर्मिला राजपूत को हिरासत में लिया था, जिन्हें पंचशील के आत्मसमर्पण के बाद छोड़ दिया गया।

former sp mla son surrendered in the court

सोमवार को कचहरी फतेहगढ़ में दोपहर को एक शख्स बुलेट पर सवार हेलमेट लगाकर कोर्ट परिसर के मुख्य दरवाजे से आया और बुलेट को सीजेएम कार्यालय के बाहर खड़ी कर सीजेएम कोर्ट में प्रवेश किया। बाद में पता चला कि बुलेट से आया व्यक्ति पंचशील है। एक अगस्त से पुलिस पंचशील राजपूत की गिरफ्तारी के लिये उसे ढूंढ रही थी। लेकिन पुलिस का सूचना तंत्र जबाब दे गया। हद तो तब हो गयी जब पंचशील के कोर्ट में हाजिर होने की खबर के बाद भी पुलिस का एक भी सिपाही वहां नहीं पंहुचा।

former sp mla son surrendered in the court

आरोपी को जेल ले जाने में लगे तीन घंटे

कोर्ट के सामने आत्मसमर्पण करने के बाद पंचशील को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजने के आदेश दिये गये। जिसके बाद तकरीबन तीन घंटे के इंतजार के बाद पुलिस पंहुची और पुलिस जीप से पंचशील को जेल भेजा गया। बीते गुरुवार को बढ़पुर निवासी बिल्डिंग मैटीरियल व्यवसायी नीतेश कटियार व उनके भाई मानव कटियार को उनकी दुकान पर ही गोलियां बरसाकर घायल कर दिया गया था।

ये भी पढ़ें-जीजा को ससुराल में हुआ साले की बीवी से प्यार, दोनों ने भागकर कर ली शादी, अब मांग रहे सुरक्षा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
former sp mla son surrendered in the court
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X