• search
छत्तीसगढ़ न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

कांस्टेबल अंकिता ने माउंट एल्ब्रुस पर पहुंचाया छत्तीसगढ़ मॉडल, यूरोप की सबसे ऊंची चोटी पर फहराया तिरंगा

छतीसगढ़ के कबीरधाम (कवर्धा) जिले के पुलिस विभाग में कांस्टेबल के पद पर पदस्थ पर्वतारोही अंकिता गुप्ता ने यूरोपीय महाद्वीप के माउंट एल्ब्रुस की सबसे ऊंची चोटी पर तिरंगा फहरा कर इतिहास रच दिया है।
Google Oneindia News

कबीरधाम, 17 अगस्त। देश आजादी की 75 वर्षगांठ पर आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। इस बीच छतीसगढ़ के कबीरधाम (कवर्धा) जिले के पुलिस विभाग में कांस्टेबल के पद पर पदस्थ पर्वतारोही अंकिता गुप्ता ने यूरोपीय महाद्वीप के माउंट एल्ब्रुस की सबसे ऊंची चोटी पर तिरंगा फहरा कर इतिहास रच दिया है। यह चोटी 18,510 फीट ऊंचाई पर स्थित है। अंकिता ने माउंट एलब्रुस की चोटी पर राज्य सरकार का न्याय एवं सशक्तीकरण का छत्तीसगढ़ मॉडल का बैनर प्रदर्शित किया। इस ऊंचाई पर पहुंचकर अंकिता ने एक बार फिर से कवर्धा जिले का नाम पूरी दुनिया में रौशन कर दिखाया है।

माइनस 30 डिग्री तापमान पर की ट्रैकिंग

माइनस 30 डिग्री तापमान पर की ट्रैकिंग

अंकिता ने 12 अगस्त को चढ़ाई शुरु की पर्वतारोही अंकिता गुप्ता ने 15 अगस्त को सुबह 5.45 मिनट पर यूरोप के माउंट एलब्रुस (पश्चिम) 5,642 मीटर ऊंचाई पर तिरंगा फहराया है। माउंट एल्ब्रुस का तापमान इन दिनों माइनस 25 से 30 डिग्री है। अंकिता में लगभग 45 से 50 किलोमीटर प्रति घण्टे की रफ्तार से चल रही ठंडी हवाओ का भी सामना किया। मिली जनाकरी के अनुसार अंकिता ने दूसरे दिन यूरोपीय महाद्वीप के सबसे ऊंची चोटी (ऊंचाई 5621 मीटर) माउंट एलब्रुस(पूर्व) की 16 अगस्त को करीब सुबह 4.23 मिनट पर तिरंगा लहराया।

सबसे ऊंची चोटी पर पहुंचाया छत्तीसगढ़ मॉडल

सबसे ऊंची चोटी पर पहुंचाया छत्तीसगढ़ मॉडल

अंकिता ने इस अभियान पर जाने से पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात किया था, सीएम ने तिरंगा भेंटकर अंकिता को बधाई दी थी। इस दौरान अंकित ने माउंट एल्ब्रुस पर राज्य सरकार का न्याय एवं सशक्तीकरण का छत्तीसगढ़ मॉडल का बैनर भी प्रदर्शित किया। साथ ही 16 अगस्त को यूरोपीय महाद्वीप स्थित माउंट एल्ब्रुस के( पूर्व ) हिस्सा में भी भारत का तिरंगा लहरा कर कवर्धा और देश का नाम पूरी दुनिया में रौशन किया है।

लद्दाख के कांगरी में फहरा चुकी है तिरंगा

लद्दाख के कांगरी में फहरा चुकी है तिरंगा

आपको बता दें कि पर्वतारोही अंकिता गुप्ता कवर्धा जिला पुलिस विभाग में आरक्षक के पद पर तैनात है. एंटी नक्सल सेल का हिस्सा है, जो कि पूर्व में भी अंकिता गुप्ता ने जनवरी साल 2022 मे लद्दाख के सबसे उंची चोटी कांगरी मे विमतर चैलेंज ट्रेकिंग का टास्क पूरा कर तिरंगा लहराया था. साथ ही अंकिता गुप्ता को साल 2021 में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा अंकिता को विरानी पुरस्कार से भी सम्मानित किया था. इस बार अंकिता ने यूरोप में जाकर यूरोपीय महाद्वीप पर तिरंगा लहराया है। जिससे कवर्धा के लोग अंकिता की सराहना कर रहे हैं।

राज्य सरकार से मिला था 5 लाख का अनुदान

राज्य सरकार से मिला था 5 लाख का अनुदान

माउंटेरियन अंकिता गुप्ता ने इस मिशन तैयार पहले ही शुरु कर दी थी लेकिन आर्थिक तंगी के कारण निराश होने लगी थी। लेकिन अंकिता की मदद के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आगे आए और राज्य सरकार ने उनके इस अभियान के लिए 5 लाख रूपए का अनुदान दिया। कवर्धा कलेक्टर ने उन्हें पांच लाख रुपये का चेक सौंपते हुए उनके इस सफर के लिए शुभकामनाएं दी थी।

Comments
English summary
Constable Ankita carried the Chhattisgarh model on Mount Elbrus, hoisted the tricolor on the highest peak of the continent of Europe
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X