सुप्रीम कोर्ट पहुंचा जेपी ग्रुप, 2000 करोड़ रुपए जमा करने के लिए मांगी यमुना एक्सप्रेस-वे प्रोजेक्ट को बेचने की इजाजत

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। जेपी ग्रुप ने सुप्रीम कोर्ट से यमुना एक्सप्रेस-वे प्रोजेक्ट को बेचने की इजाजत मांगी है। दरअसल, जेपी इंफ्राटेक को दिवालिया घोषित किए जाने की पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने जेपी ग्रुप को 2000 करोड़ रुपए जमा करने के निर्देश दिए थे, जिसके चलते जेपी ग्रुप ने यह अहम कदम उठाया है। इस मामले पर अगली सुनवाई 23 अक्टूबर को होगी। जेपी ग्रुप ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि उसके पास 2000 करोड़ रुपए जमा करने के लिए पैसे नहीं है, इसलिए उसे यमुना एक्सप्रेस-वे को बेचने की इजाजत दे, ताकि यह पैसे जमा किए जा सकें। जेपी ग्रुप यमुना एक्सप्रेस-वे को करीब 2500 करोड़ रुपए में बेचेगा।

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा जेपी ग्रुप, 2000 करोड़ रुपए जमा करने के लिए मांगी यमुना एक्सप्रेस-वे प्रोजेक्ट को बेचने की इजाजत

ये भी पढ़ें- मध्य प्रदेश में सस्ता हो गया डीजल-पेट्रोल, डीजल पर वैट में 5 फीसदी और पेट्रोल पर 3 फीसदी की कटौती

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
jaypee group moved to supreme court, want permission to sell yamuna express-way to deposit rs. 2000 crore

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.