• search
बिहार न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Prashant Kishor का दावा, नीतीश कुमार ने फिर से साथ काम करने का दिया प्रस्ताव

Google Oneindia News

नई दिल्ली, 04 अक्टूबर। Prashant Kishor: एक तरफ जहां कांग्रेस पार्टी भारत जोड़ो यात्रा कर रही है तो दूसरी तरफ प्रशांत किशोर बिहार में जन सुराज पदयात्रा पर निकले हैं। प्रशांत किशोर ने 2 अक्टूबर को यह यात्रा शुरू की है। जन सूराज यात्रा पर निकले प्रशांत किशोर ने बड़ा दावा किया है। प्रशांत किशोर ने कहा कि उन्हें हाल ही में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की ओर से प्रस्ताव मिला था कि साथ मिलकर काम करते हैं, लेकिन प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार के प्रस्ताव को ठुकरा दिया है। प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार के प्रस्ताव को यह कहकर ठुकरा दिया कि वह 3500 किलोमीटर की पदयात्रा पर निकले हैं।

nitish kumar

इसे भी पढ़ें- Maharashtra:शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे के नाम पर खुलेंगे 700 स्वास्थ्य केंद्र, BMC चुनाव के लिए बड़ा दांवइसे भी पढ़ें- Maharashtra:शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे के नाम पर खुलेंगे 700 स्वास्थ्य केंद्र, BMC चुनाव के लिए बड़ा दांव

साथ काम करने का प्रस्ताव

पश्चिमी चंपारण के जमुनिया गांव में बोलते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि मैं पटना में हाल ही में नीतीश कुमार से मिला था। दोनों नेताओं के बीच हुई इस मुलाकात के बाद कई कयास लगाए जा रहे थे, लेकिन दोनों ही ओर से इस बारे में कोई स्पष्ट बयान नहीं दिया गया था। अब प्रशांत किशोर ने इसपर चुप्पी तोड़ते हुए कहाकि नीतीश कुमार का मुझे प्रस्ताव मिला था कि एक बार फिर से मिलकर काम करते हैं। दोनों नेताओं के बीच हुई इस मुलाकात को लेकर इसलिए भी काफी चर्चा हो रही थी क्योंकि दोनों ही नेता अब अलग रास्तों पर हैं। प्रशांत किशोर ने ऐलान कर दिया है कि वह अपनी पार्टी की शुरुआत करेंगे, वह इस पार्टी का ऐलान अपनी पदयात्रा के खत्म होने के बाद करेंगे। वहीं नीतीश कुमार खुद को राष्ट्रीय स्तर पर लॉन्च करने की तैयारी में हैं।

नीतीश कुमार ने मांगी थी मदद

नीतीश कुमार और प्रशांत किशोर पहले एक साथ काम कर चुके हैं। दोनों एक दूसरे के प्रशंसक रह चुके हैं। नीतीश कुमार ने प्रशांत किशोर को पार्टी का उपाध्यक्ष भी बनाया था। अपनी पदयात्रा के दौरान जमुनिया में बोलते हुए पीके ने कहा 2014 के लोकसभा चुनाव में नीतीश कुमार को जब हार का मुंह देखना पड़ा था तो उन्होंने मेरी मदद मांगी थी। मैंने 2015 में उनके साथ हाथ मिलाया था और हम चुनाव में जीते थे। 10-15 दिन पहले उन्होंने मुझे फोन किया और प्रस्ताव दिया कि हम मिलकर फिर से काम करते हैं। मैंने कहा यह संभव नहीं है क्योंकि मेरे पास और भी जिम्मेदारी है, 3500 किलोमीटर की पदयात्रा है।

जदयू का पलटवार

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने जिस तरह से प्रशांत किशोर पर निशाना साधते हुए कहा था कि आखिर उनके पास पैसे का जरिया क्या है। इसपर पलटवार करते हुए पीके ने कहा कि मैंने उन लोगों से कभी पैसा नहीं लिया जिनके लिए काम किया। मैं अब लोगों से पैसा ले रहा हूं क्योंकि अब मुझे अपनी यात्रा के खर्च को निकालना है। मैंने 10 साल काम किया, अपनी प्रतिभा का इस्तेमाल किया, दलाली नहीं किए हैं। वहीं जदयू विधायक नीरज कुमार ने कहा कि पहले प्रशांत किशोर ने कहा था कि वह नीतीश कुमार से नहीं मिले, नीतीश कुमार ने जब खुद इस बारे में बताया तभी इसकी पुष्टि हो सकी तब पीके ने इसे स्वीकार किया। जब पीके अपनी यात्रा को लेकर इतने संकल्पित थे तो वह नीतीश कुमार से क्यों मिले।

Comments
English summary
Prashant Kishor claim Nitish Kumar offered him to work together again.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X