कावेरी विवाद: 42 बसों को जलाने की आरोपी 22 वर्षीय युवती गिरफ्तार

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बेंगलुरु। कावेरी जल विवाद को लेकर बेंगलुरु में हुए प्रदर्शन के दौरान 42 बसों को जलाने के मामले में पुलिस ने एक 22 वर्षीय युवती को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि इसी लड़की के कहने पर भीड़ ने एक साथ 42 बसों को आग के हवाले कर दिया।

cauvery dispute

युवती पर भीड़ के नेतृत्व करने का आरोप

पुलिस ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज के आधार ये कार्रवाई की गई है। आरोपी लड़की की पहचान सी भाग्य के तौर पर हुई है। बताया जा रहा है कि वह अपने माता-पिता चंद्रकांत और येल्लम्मा के साथ गिरिनगर में रहती थी।

भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने वाले अफसर के घर से मिले 800 करोड़ नगद

उसका घर तमिलनाडु के निजी ट्रवेल फर्म केपीएन गैरेज के पास ही था जहां इस लड़की के नेतृत्व में भीड़ ने हमला किया और बसों को आग के हवाले किया।

सी भाग्य एक दिहाड़ी मजदूर है, दो साल पहले ही अपने माता-पिता के साथ शहर में रहने के लिए आई थी। पूरे मामले की जांच कर रहे अधिकारी के मुताबिक भाग्य को गुरुवार रात को गिरफ्तार किया गया।

सीसीटीवी फुटेज से हुई भाग्य की पहचान

सीसीटीवी फुटेज से उसकी पहचान हुई। गिरफ्तारी के बाद उसे शुक्रवार को कोर्ट ले जाया गया, फिलहाल पर पुलिस कस्टडी में है। पुलिस इस पूरे घटनाक्रम में उसके रोल को लेकर पूछताछ कर रही है।

RJD विधायक के बेटे पर आरोप, रोडरेज में युवक को मारा चाकू

आखिर उसने बसों को आग के हवाले क्यों किया और भीड़ को क्यों भड़काया, इसकी पड़ताल की जा रही है। हालांकि वह महिला हैं इसलिए भाग्य को पुलिस थाने में न रखकर माडीवाला स्थित रिमांड होम में रखा गया है।

उसे शनिवार सुबह महिला पुलिस की टीम फिर से आरआर नगर पुलिस थाने लेकर आ गई, जहां उससे आगे की पूछताछ की जाएगी।

अधिवक्ता एसोसिएशन दे सकती है कानूनी सहायता

भाग्य से पूछताछ की प्रक्रिया पूरी होने के बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया जाएगा। हालांकि अगले 6 महीने तक उसके जमानत की संभावना कम ही है।

कार में मिला गाय का बछड़ा, पीट-पीटकर ली युवक की जान

बताया जा रहा कि आरोपी भाग्य की आर्थिक स्थिति बेहद कमजोर है। ऐसे में वह अपने लिए कोई वकील करने की स्थिति में नहीं हैं।

हालांकि शहर के अधिवक्ता एसोसिएशन ने कहा है कि कावेरी जल विवाद के मुद्दे पर लड़ने वालों को मुफ्त कानूनी सहायता दी जाएगी। भाग्य को इस पेशकश का फायदा मिल सकता है।

शुरूआती जांच में पुलिस को सीसीटीवी फुटेज के जरिए पता चला है कि भाग्य बसों को आग लगाने वाली भीड़ को डीजल और पेट्रोल पहुंचा रही थी। फिलहाल पुलिस इस बात की जांच भी कर रही है कि क्या भाग्य ने पहले भी किसी आंदोलन में हिस्सा लिया है।

हमले के दौरान घायल बस ड्राइवरों ने की युवती की पहचान

भाग्य के बारे में जानकारी उस समय सामने आई जब आरआर नगर थाने की पुलिस ने 7 युवकों को अपने कब्जे में लिया। उनमें से 5 डिसूजा नगर के रहने वाले थे।

राहुल गांधी के सुरक्षाकर्मियों ने इंडिगो विमान में पायलट से लाइसेंस मांगा

उन्होंने बताया कि एक अनजान लड़की कहने पर वह इस घटना में शामिल हुए। भाग्य के खिलाफ आईपीसी की कई धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है।

केपीएन ट्रवेल्स की जिन 42 बसों को आग के हवाले किया गया उस कंपनी के मालिक केपी नटराजन से जब बात की गई तो उन्होंने बताया कि मुझे उस लड़की की गिरफ्तारी का पता चला है।

इस हमले के दौरान घायल ड्राइवरों ने पुष्टि की है कि इसी लड़की ने बसों को आग के हवाले करने में अहम रोल अदा किया।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Karnataka police arrested woman allegedly controlling and instigating the mob that torched 42 vehicles belonging to Tamil Nadu-based private travel firm.
Please Wait while comments are loading...