• search
अंबेडकर नगर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

शाम को उठनी थी बेटी की डोली, घर से निकली 69000 शिक्षक भर्ती के याचिकाकर्ता शिक्षामित्र की अर्थी

|

अंबेडकर नगर। 69000 सहायक शिक्षक भर्ती के याचिकाकर्ता शिक्षामित्र की हार्ट अटैक से मौत हो गई। बेटी के हाथ में मेंहदी लगने से महज कुछ घण्टे पहले हुई शिक्षा मित्र पिता की मौत ने जहां पूरे परिवार को सदमे में डाल दिया है। वहीं, शिक्षा मित्रों में भी शोक की लहर दौड़ गई है। लोगों का कहना है कि भर्ती में विफल रहने पर रमाकांत सदमे में थे।

कोर्ट में अटक गया मामला

कोर्ट में अटक गया मामला

अंबेडकर नगर के अकबरपुर क्षेत्र के ग्राम कसेरुआ निवासी रमाकांत की वर्ष 2003 में प्राथमिक विद्यालय भिखारीपुर में शिक्षामित्र के पद पर नियुक्ति हुई थी। पूर्ववर्ती सरकार ने शिक्ष मित्रों को स्थाई अध्यापक बनाने का निर्णय लिया तो अन्य शिक्षा मित्रों की तरह रमाकांत ने भी जिंदगी के हसीन सपने संजो लिए थे। सपनों पर कभी सरकार ने पेंच फंसाया तो कभी कोर्ट ने मामला अटका दिया।

बेटी की आज है शादी

बेटी की आज है शादी

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद उनके अरमानों पर पानी फिर गया। उसके बाद जब 69000 शिक्षक भर्ती आई तो उससे भी कुछ आस जगी लेकिन उसमें भी निराशा ही हाथ लगी। परिजनों के अनुसार तब से ही रमाकांत सदमे में थे, जिसके चलते शनिवार को उनकी मौत हो गई। रमाकांत की बेटी की शादी आज (रविवार) को है।

काफी तनाव में थे रमाकांत

काफी तनाव में थे रमाकांत

परिजनों का कहना है कि सरकार ने मेरिट 40-45 से बढ़ाकर 60-65 कर दिया, जिसको लेकर रमाकांत अपने अन्य साथियो के साथ कोर्ट गए थे, लेकिन वहां भी कुछ नहीं हुआ। इसको लेकर वह काफी तनाव में थे। रविवार को बेटी की बारात तो आएगी लेकिन रमाकांत की जिंदगी डोर बेटी की डोली उठने से पहले ही टूट गयी।

ये भी पढ़ें:-दस्तावेजों के साथ पीलीभीत से सामने आई एक और असली अनामिका, किया ये दावाये भी पढ़ें:-दस्तावेजों के साथ पीलीभीत से सामने आई एक और असली अनामिका, किया ये दावा

English summary
father dies on daughter wedding day in ambedkar nagar
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X