• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

IITs में प्रवेश के लिए JEE स्कोर के अलावा 12वीं के अंक भी होंगे जरूरी, जल्द जारी होगा नया नोटिफिकेशन

देशभर की आईआईटी में प्रवेश के नियमों में बदलाव किया जा सकता है। अगर नया नियम लागू होता है तो छात्रों के लिए फिर से जेईई के अंक के अलावा 12वीं के अंक जरूर हो जाएंगे।
Google Oneindia News
iit admission

क्या आप भी जेईई परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं? तो यह खबर आपके लिए है। क्योंकि आईआईटी ने दाखिले के लिए 12वीं कक्षा के प्रदर्शन को क्राइटेरिया में फिर से शामिल करने का फैसला किया है। ऐसे में 12वीं के अंक बहुत मायने रखेंगे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) ने प्रवेश देने के लिए कोरोना से पहले वाले नियम को लागू करने का फैसला लिया है।

जेईई मेन 2023 की तारीखों का ऐलान जल्द
जेईई मेन 2023 परीक्षा तिथि और रजिस्ट्रेशन की तारीखों का ऐलान जल्द ही NTA की तरफ से जारी किया जाएगा। एग्जाम डेट और रजिस्ट्रेशन की तारीख जारी होने के बाद अभ्यर्थी nta.ac.in पर जाकर चेक कर सकेंगे। इसके लिए अभ्यर्थी jeemain.nta.nic.in पर भी डिटेल्स चेक कर सकेंगे। माना जा रहा है कि एनटीए एक सप्ताह के भीतर परीक्षा का कार्यक्रम जारी कर देगा।

2020 में आईआईटी ने प्रवेश के नियमों में दी थी ढील
कोरोना वायरस संक्रमण के चलते वर्ष 2020 में आईआईटी ने 12वीं के अंक को एडमिशन की क्राइटेरिया से हटा दिया था। इसके मुताबिक छात्रों को भौतिकी, रसायन विज्ञान, गणित, भाषा और अन्य विषयों में केवल उत्तीर्ण अंक लाने पर ही प्रवेश की अनुमति दे दी गई। यह फैसला इसलिए लिया गया था क्योंकि कोरोना के चलते बोर्ड परीक्षाएं प्रभावित हुई थी। लेकिन अब जब कोरोना से जिंदगी सामान्य हो रही है तो फिर से पुराने नियम को बहाल किया जा रहा है।

कोरोनाकाल से पहले था ये नियम
कोरोना महामारी से पहले जेईई (एडवांस्ड) में जनरल वर्ग के अभ्यर्थियों को 12वीं कक्षा में कम से कम 75 प्रतिशत अंक प्राप्त करने होते थे। वहीं, अगर छात्र अपने बोर्ड परिणामों के शीर्ष 20 पर्सेंटाइल में शामिल होते थे, तब भी उन्हें एंट्रेंस एग्जाम में बैठने की अनुमति दी जाती थी। वहीं, अनुसूचित जाति (SC) और अनुसूचित जनजाति (ST) वर्ग के अभ्यर्थियों को 65 प्रतिशत स्कोर करने हासिल करना आवश्यक होता था। आपको बता दें कि जेईई एडवांस्ड की गिनती देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में होती है। इस परीक्षा में हर वर्ष लाखों की संख्या में अभ्यर्थी देश के विभिन्न राज्यों से शामिल होते है। लेकिन चयन सिर्फ कुछ ही अभ्यर्थियों का हो पाता है।

ये भी पढ़ें- एमपी:हॉस्पिटल के मैनेजर को धमकाकर 50 हजार की रिश्वत ले रहा था विद्युत विभाग का जेई, ईओडब्ल्यू ने पकड़ा

Comments
English summary
jee advanced admission criteria may change this year 12th marks matter again
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X