धनिष्ठा नक्षत्र वाले होते हैं बहुत केयरिंग और लविंग...

By: पं. गजेंद्र शर्मा
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली।  अपने जन्म नक्षत्र से स्वभाव, गुणधर्म, भाग्योदय आदि की जानकारी हासिल करने के लिए जानिए निम्नलिखित पांच नक्षत्रों के बारे में।

बड़े ही भोले-भाले होते हैं पुष्य नक्षत्र में जन्मे जातक

धनिष्ठा: धनिष्ठा नक्षत्र में जन्मा जातक अपने भाई-बंधुओं के प्रति विशेष लगाव रखता है। अपनी संपत्ति, संपदा में से सभी को बराबर का हिस्सा भी देता है। धनी, नेक काम करने वाला, साहसी और स्त्रियों के बीच लोकप्रिय होता है। यदि इस नक्षत्र की कन्या है तो वह पुरुषों के बीच लोकप्रिय होती है। इन्हें आभूषण पहनने का बहुत शौक होता है। सरकारी नौकरी में उच्च पदों तक पहुंचते हैं। इनके जीवन में 15, 19 और 23वां वर्ष शुभ नहीं होता है। अपने गुणों के कारण समाज में चर्चित हस्ती बनते हैं।

Sawan में ये तीन उपाय कर देंगे मालामाल , हो जायेंगे भोले बाबा खुश | Boldsky

काफी आकर्षक और कामुक होते हैं ज्येष्ठा नक्षत्र वाले...

शतभिषा

शतभिषा

इस नक्षत्र में जन्मे जातक धनी, सत्यवादी, दानी, प्रसिद्ध, बुद्धिमान, होशियार और शत्रुओं पर जीत हासिल करने वाले होते हैं। राजकीय कार्यों में इन्हें विशेष सफलता मिलती है। इनके जीवन का 28वां वर्ष बहुत महत्वपूर्ण होता है। जीवन के मुख्य फैसले इसी आयु में होते हैं। यदि इस समय में गलत निर्णय ले लिया तो व्यसनी और सट्टेबाज बनता है।

पूर्वाभाद्रपद

पूर्वाभाद्रपद

स्वस्थ और सुंदर देह के मालिक होते इस नक्षत्र में जन्मे जातक। इनके पास पैसा भी खूब आता है और खर्च भी अत्यधिक करते हैं। ये बोलने में जरा भी ध्यान नहीं रखते कि किसे क्या बोल रहे हैं और इसी कारण धीरे-धीरे इनकी लोकप्रियता कम होने लगती है। इन्हें अपनी आलोचना भी पसंद नहीं है। जरा-जरा सी बातों पर क्रोधित हो जाते हैं। धनी होने के बावजूद इनका मन छोटा होता है। स्त्री से धोखा खाते हैं।

उत्तराभाद्रपद

उत्तराभाद्रपद

पराक्रमी, साहसी और बुद्धिमान होते हैं इस नक्षत्र में जन्मे जातक। इनका भाग्योदय 27 या 31वें वर्ष में होता है। कदम-कदम पर भाग्य इनका साथ देता है और जिस भी काम को शुरू करते हैं उसे अंजाम तक पहुंचाकर ही दम लेते हैं। परेशानियों से कभी दूर नहीं भागते हैं। चाहे कितनी भी कठिन परिस्थिति आ जाए ये हिम्मत नहीं हारते। ये सफल लेखक और संगीतकार होते हैं। गृहस्थ जीवन सफल होता है।

रेवती

रेवती

इस नक्षत्र में जन्मे जातक माता-पिता की सेवा करने वाले होते हैं। वाणी और बुद्धि के तेज होते हैं। मित्रों के साथ खुश रहने वाले। साधु प्रकृति के होते हैं। जीवन का 17, 21 और 24वां वर्ष खराब होता है। इनका शरीर स्वस्थ और निरोगी रहता है। धनवान किंतु कामातुर, कवि, लेखक, पत्रकार, उपन्यासकार होते हैं। इन्हें चरित्रवान, सर्वगुण संपन्न जीवनसाथी मिलता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Dhanishta Nakshatra born Child are Insightful, perceptive, earns a good living, charitable giving, brave, does well in foreign countries, lives on both spiritual and material levels,
Please Wait while comments are loading...