• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

दिल्ली में बढ़ते हुए डेंगू के मामलों के लिए भाजपा-शासित एमसीडी है ज़िम्मेदार: आतिशी

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 19 अक्टूबर। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता आतिशी ने कहा कि दिल्ली में बढ़ते हुए डेंगू के मामलों के लिए भाजपा-शासित एमसीडी ज़िम्मेदार है। भाजपा के नेता दिल्ली वालों की जान से खेल रहे हैं। डेंगू-मलेरिया से लड़ने की दवाई-मशीन के बजट को अपनी जेब में डाल लिया है। भाजपा शासित एमसीडी ने अक्टूबर तक डेंगू से लड़ने की दवाई नहीं खरीदी है। इसके अलावा एमसीडी ने दिल्ली में डेंगू को रोकने के लिए कोई कदम समय से नहीं उठाया है, उसका खामियाजा दिल्ली वालों को भुगतना पड़ रहा है।

BJP ruled MCD responsible for increasing dengue in Delhi said Atishi

उन्होंने कहा कि भाजपा के भ्रष्टाचार की वजह से एंटी मलेरिया विभाग में करीब 70 फ़ीसदी से ज्यादा पद खाली हैं। एमसीडी के हर वार्ड में कम से कम एक फागिंग मशीन की आवश्यकता है, लेकिन एमसीडी के पास पर्याप्त फॉगिंग मशीन भी नहीं हैं।

आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता और विधायक आतिशी ने पार्टी मुख्यालय में आज प्रेस वार्ता को संबोधित किया। आतिशी ने कहा कि पिछले 15 साल से भाजपा शासित एमसीडी के भ्रष्टाचार और कुशासन की वजह से दिल्ली वाले परेशान हैं। भाजपा के भ्रष्टाचार और कुशासन का शिकार हैं। एमसीडी के द्वारा लगातार की जा रही उगाही और एमसीडी के नॉन परफॉर्मेंस ने दिल्ली को कूड़ेदान बना दिया है। जिससे दिल्ली वाले परेशान हैं। भाजपा के मिस-गवर्नेंस, भ्रष्टाचार की वजह से आज दिल्ली वालों की जान पर बन आई है।

उन्होंने कहा कि भाजपा शासित एमसीडी की डीएमसी एक्ट के तहत मलेरिया-डेंगू की रोकथाम जिम्मेदारी है। लेकिन एमसीडी ने अपनी जिम्मेदारी से हाथ धो दिया है। एमसीडी ने दिल्ली में डेंगू को रोकने के लिए एक भी कदम समय से नहीं उठाया है। उसका खामियाजा आज दिल्ली वालों को भुगतना पड़ रहा है।

दिल्ली में रोज डेंगू के मामले बढ़ते जा रहे हैं। भाजपा बताए कि डेंगू के केस रोकने को लेकर एमसीडी क्या कर रही है। एमसीडी की जिम्मेदारी है कि उनके ब्रीडिंग चेकर्स की टीम घर-घर जाकर देख कर आए कि किसी घर में पानी तो इकट्टा नहीं हो रहा है। इसके अलावा कहीं पर मच्छर तो नहीं पनप रहे हैं। अगर हो रहे हैं तो उस पानी को खाली करवाना, वहां पर दवाई डालना तेल डालना यह एमसीडी की जिम्मेदारी होती है।

आतिशी ने कहा कि एक आज ऐसा व्यक्ति बता दें, जिनके घर में इस सीजन में मच्छरों की जांच करने के लिए एमसीडी वाले आए हों। आपको एक भी ऐसा इंसान नहीं मिलेगा। एमसीडी की दूसरी जिम्मेदारी है दिल्ली की हर कॉलोनी और इलाके में फागिंग करने की। जिससे अगर मच्छर कहीं पनप जाएं तो फागिंग के द्वारा मार दिए जाएं। लेकिन इस समय ना के बराबर फॉगिंग पूरी दिल्ली में हो रही है। इन दोनों कार्यों को करने के लिए एमसीडी में पूरा एंटी मलेरिया विभाग है। जिसमें कई स्तर पर अधिकारी होते हैं और एंटी मलेरिया विभाग को मेडिकल अधिकारी हेड करते हैं। उनके नीचे एंटी मलेरिया ऑफिसर, सीनियर मलेरिया ऑफिसर होते हैं। इसके बाद डोमेस्टिक ब्रिडिंग चेकर होते हैं।

उन्होंने बताया कि एमसीडी में हर वार्ड के लिए 10 से 15 ब्रिडिंग चेकर होना अनिवार्य है। एमसीडी में भाजपा ने जितना कुशासन और भ्रष्टाचार की वजह से एंटी मलेरिया विभाग में करीब 70 फ़ीसदी से ज्यादा पद खाली हैं। एंटी मलेरिया विभाग में लोग ही नहीं हैं, जो एमसीडी की इस जिम्मेदारी को निभा सकें और दिल्ली वालों को डेंगू से बचा सकें।

विधायक ने कहा कि अगर दिल्ली को डेंगू से बचाना है तो हर वार्ड में कम से कम एक फागिंग मशीन की आवश्यकता है। लेकिन एमसीडी के पास वार्डों के लिए पर्याप्त फॉगिंग मशीन नहीं है। भाजपा शासित तीनों एमसीडी जवाब दें कि उनके हर वार्ड में फॉगिंग मशीन क्यों नहीं है? मशीनों के लिए जो पैसा बजट में आवंटित किया जाता है, वह पैसा कहां गया। साउथ एमसीडी में 104 वार्ड है लेकिन वहां पर सिर्फ 16 फागिंग मशीन हैं। इतनी कम मशीन कैसे 104 वार्ड में फॉगिंग करेंगी। इसका ही नतीजा है कि दिल्ली में दिन प्रतिदिन डेंगू के मामले बढ़ते जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि एमसीडी की जिम्मेदारी होती है अप्रैल महीने में डेंगू और मलेरिया के मच्छरों से निपटने के लिए दवाई खरीदने की। जब डोमेस्टिक ब्रिडिंग चेकर डोर टू डोर जाते हैं तो घरों में उसका छिड़काव करते हैं।‌ दूसरा फॉगिंग के लिए दवाई का इस्तेमाल होता है।‌ एसडीएमसी ने अप्रैल में खरीदी जाने वाली दवा को सितंबर में जाकर खरीदा है। उत्तरी दिल्ली नगर निगम और पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने अक्टूबर तक डेंगू के खिलाफ जिस दवा की जरूरत है, वह नहीं खरीदी है। एसडीएमसी के पास डेंगू के खिलाफ लड़ने के लिए पर्याप्त ‌कर्मचारी नहीं हैं, जिन्हें घर-घर जाकर चैक करना होता है। इसके अलावा भाजपा शासित एमसीडी के पास फॉगिंग की मशीन भी नहीं हैं। तीसरा डेंगू मलेरिया के मच्छरों के खिलाफ इस्तेमाल होने वाली दवा भी एमसीडी पास नहीं है।

विधायक आतिशी ने कहा कि भाजपा शासित एमसीडी की तीन इतनी बड़ी गलतियों को क्रिमिनल नेगलिजेंस के तहत आना चाहिए। जिसकी वजह से आज दिल्ली वालों को डेंगू का प्रकोप सहना पड़ रहा है। भाजपा के नेता जवाब दें कि दिल्ली वालों ने ऐसा क्या गुनाह कर दिया कि आप दिल्ली वालों की जान से खेल रहे हैं। डेंगू-मलेरिया से लड़ने की दवाई-मशीन के बजट को अपनी जेब में डाल लिया। इसके अलावा एंटी मलेरिया विभाग रिक्त पद भी नहीं भरे। यही कारण है कि भाजपा के भ्रष्टाचार और कुशासन की वजह से दिल्ली वालों को खामियाजा भुगतना पड़ रहा है।

केजरीवाल के नक्शे कदम पर चले अखिलेश, क्या आम आदमी पार्टी के साथ मिलकर लड़ेंगे चुनाव ?केजरीवाल के नक्शे कदम पर चले अखिलेश, क्या आम आदमी पार्टी के साथ मिलकर लड़ेंगे चुनाव ?

English summary
BJP ruled MCD responsible for increasing dengue in Delhi said Atishi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X