• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जानिए कैसे मां दुर्गा का वाहन बना सिंह, क्यों कहलाती हैं वो शेरावाली?

By Pt. Gajendra Sharma
|

नई दिल्ली। हमारे धार्मिक चित्रों, कथाओं और भजनों में एक बात विशेष रूप से देखने को मिलती है कि यहां हर दैवीय शक्ति के लिए एक वाहन नियत किया गया है। यह वाहन भी अपने निर्दिष्ट देवता के समान पूजनीय माना जाता है, जैसे शिव मंदिर के बाहर नंदी विराजते ही हैं। इतना ही नहीं, इस वाहन से जोड़कर उन देवता को एक नाम भी दिया जाता है जैसे मूषकराज। इसी क्रम में जब बात दुर्गा माँ की आती है, तब स्वतः ही आंखों के सामने सिंह पर विराजित मां की छवि दृश्यमान हो जाती है।

जानिए कैसे मां दुर्गा का वाहन बना सिंह, क्यों कहलाती हैं वो शेरावाली?

हम सभी जानते हैं कि मां दुर्गा का एक नाम सिंहवाहिनी भी है। मां के भजनों में भी, शेरों पे हो गई सवार जैसे गीत श्रद्धालुओं के बीच बड़े लोकप्रिय हैं। ऐसे में स्वाभाविक रूप से यह जिज्ञासा मन में जागती है कि आखिर सिंह कैसे मां दुर्गा का वाहन बना होगा?

तो आज इसी सम्बन्ध में एक प्रसंग सुनते हैं

एक बार शिव जी ध्यान करने बैठे और अनंत काल तक साधना में लीन रहे। देवी पार्वती ने काफी समय तक प्रतीक्षा की, लेकिन शिव जी ध्यानस्थ ही रहे। तब देवी पार्वती स्वयम भी कैलाश पर्वत को छोड़कर तपस्या करने घने जंगल में चली गईं। जंगल में पार्वती घोर तपस्या में रत थीं, तभी वहां एक सिंह आया। उसे कई दिनों से शिकार नहीं मिला था। माता भवानी को देखकर उसने हमला करना चाहा, पर तप के सुरक्षा चक्र का घेरा वह नहीं तोड़ पाया। यह देखकर वह वहीं पास में बैठ गया और तपस्या पूरी होने की प्रतीक्षा करने लगा। उसने सोचा कि जैसे ही देवी उठेंगी, वह उनका शिकार कर अपनी भूख मिटा लेगा।

देवी पार्वती की घोर तपस्या से शिव जी प्रसन्न हो गए

देवी पार्वती की घोर तपस्या से शिव जी प्रसन्न हो गए और उन्हें कैलाश वापस ले जाने आए। देवी भवानी जब चलने को उद्यत हुईं, तो उनकी दृष्टि सिंह पर पड़ी। योग दृष्टि से उन्होंने जान लिया कि यह भूखा सिंह कई दिनों से उनके तप से उठने की प्रतीक्षा कर रहा है। संसार को शरण देने वाली ममतामयी मां से यह भूखा सिंह निराश्रित नहीं छोड़ा गया। उन्होंने उसकी प्रतीक्षा को भी तपस्या ही मान लिया और अपने साथ ले गईं। उसी दिन से सिंह दुर्गा मां का वाहन बन गया।

यह पढ़ें: Navratri 2020: शारदीय नवरात्र में 38 साल बाद बना चार रवियोग का संयोग

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Why is Mother Durga shown riding a Lion, here is the reason, please read interesting story.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X