• search
वाराणसी न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

24 हजार महीने की नौकरी के लिए पल भर में गंवाए 10 हजार, आप भी Facebook पर न करें ऐसी गलती

Facebook सहित कई अन्‍य ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर नौकरी का विज्ञापन देने के बाद ठगों द्वारा बेरोजगार युवकों को निशाना बनाया जा रहा है, वाराणसी के थाने में लगातार ऐसे मामले दर्ज हो रहे हैं।
Google Oneindia News

बेरोजगार युवकों और युवतियों को ठगने का ठगों ने नया तरीका अपना लिया है। फेसबुक और सोशल मीडिया साइट पर नौकरी के विज्ञापन देने के बाद बेरोजगारो को लगातार ठगा जा रहा है। वाराणसी जिले के साइबर थाने में ऐसे कई मामले दर्ज हैं, जिनमें नौकरी के नाम पर लोगों से ऑनलाइन ठगी की गई है। ठगों द्वारा Facebook और अन्‍य प्‍लेटफार्म पर अच्छी सैलरी और वर्क फ्रॉम होम का वादा किया जाता है। इसी लालच में पड़कर लोगों द्वारा ठगों पर विश्वास कर लिया जाता है और लोग ठगी के शिकार हो जाते हैं।

Facebook पर आंगनवाड़ी भर्ती का फर्जी विज्ञापन

Facebook पर आंगनवाड़ी भर्ती का फर्जी विज्ञापन

वाराणसी जिले के आदमपुर में नौकरी के नाम पर ठगी करने का एक ऐसा ही मामला सामने आया है। आदमपुर इलाके के रहे वाले अजय कुमार ने Facebook पर आंगनवाड़ी भर्ती के लिए एक पोस्‍ट देखा। पोस्‍ट देखने के बाद उसने अपनी भाभी को आंगनवाड़ी में भर्ती करवाने के लिए उसके बारे में जानकारी के लिए लिंक पर क्‍लिक किया। क्‍लिक करने के बाद वह एक वेबसाइट पर गया। उस वेबसाइट पर आंगनवाड़ी भर्ती के बारे में कई पोस्‍ट पब्‍लिश किए गए थे। अधिक जानकारी के लिए उसने वेबसाइट में दिए गए संपर्क नंबर पर कॉल किया।

चयन के लिए मांगे गए 10 हजार रुपए

चयन के लिए मांगे गए 10 हजार रुपए

अजय द्वारा बताया गया कि उक्‍त नंबर पर संपर्क करने के बाद सामने वाले व्‍यक्‍ति द्वारा सभी दस्‍तावेज ऑनलाइन अपलोड करने के लिए कहा गया। अजय ने अपनी भाभी के सभी दस्‍तावजे को उस वेबसाइट पर अपलोड कर दिया। अपलोड करने के बाद उक्‍त नंबर द्वारा अजय को फोन आया और बोला गया कि काफी संख्या में आवेदन आए हैं और यदि आप अपने घर की महिला का चयन करवाना चाहते हैं तो 10 हजार रुपए देने पड़ेंगे। अपने घर वालों से बात करने के बाद अजय ने उसके द्वारा बताए गए नंबर पर ऑनलाइन पेमेंट कर दिया।

रुपए लेने के बाद बंद कर दिया नंबर

रुपए लेने के बाद बंद कर दिया नंबर

अजय ने बताया कि रुपए लेने के बाद ठगने अपना मोबाइल नंबर बंद कर दिया। काफी प्रयास करने के बाद भी जब उससे संपर्क नहीं हुआ तो अजय द्वारा उसे मैसेज भेजा गया। मैसेज भेजने के बाद भी सामने वाले व्यक्ति द्वारा कोई जवाब नहीं दिया गया। ऐसे में अजय को एहसास हुआ कि उसके साथ शादी हो गई है। परेशान अजय ने पहले स्थानीय पुलिस से शिकायत किया, उसके बाद साइबर थाने पहुंचकर ठग के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया।

इन विभागों में नौकरी के नाम पर भी ठगी

इन विभागों में नौकरी के नाम पर भी ठगी

वाराणसी के साइबर थाने में नौकरी के नाम पर ठगी किए जाने के मामले को लेकर दर्ज मुकदमों पर ध्यान दिया जाए तो पता चलता है कि रेलवे, एयरपोर्ट, आंगनबाड़ी, ऑनलाइन वर्क फ्रॉम होम आदि में नौकरी दिलाने के नाम पर आएदिन ठगी के मामले सामने आ रहे हैं। इस प्रकार की नौकरी के लिए ठगों द्वारा Facebook और सोशल मीडिया के अन्‍य प्लेटफॉर्म पर विज्ञापन दिए जाते हैं। अधिकतर मामले ऐसे ही हैं जिसमें सोशल साइट्स पर विज्ञापन देखने के बाद लोग संबंधित वेबसाइट पर गए और वहां उनके साथ ठगी की गई।

वैकेंसी के लिए ऐसे लोगों पर न करें भरोसा

वैकेंसी के लिए ऐसे लोगों पर न करें भरोसा

इस बारे में वाराणसी के सारनाथ में स्थित साइबर थाने के प्रभारी विजय नारायण मिश्रा द्वारा बताया गया कि वैकेंसी को लेकर सोशल साइट्स पर दिए जाने वाले विज्ञापन के बारे में पहले पड़ताल करने के लिए पहले संबंधित विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं। नौकरी के लिए दिए गए विज्ञापन में किसी भी अनाधिकृत लिंक पर क्लिक न करें। नौकरी लगवाने के लिए यदि रुपए की डिमांड की जाए तो समझ लीजिए कि सामने वाला व्यक्ति आपके साथ ठगी कर सकता है।

एयरपोर्ट द्वारा लोगों को लगातार किया जाता है जाकरूक

एयरपोर्ट द्वारा लोगों को लगातार किया जाता है जाकरूक

एयरपोर्ट और एयरलाइंस में नौकरी के नाम पर भी लोगों द्वारा आए दिन ठगी के मामले सामने आते हैं। नौकरी के नाम पर बेरोजगार युवाओं से मोटी रकम ली जाती है। नौकरी के नाम पर ठगी के लिए लगातार मामले आने के बाद एयरपोर्ट प्रशासन द्वारा भी इसके लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। वाराणसी एयरपोर्ट निदेशक अर्यमा सान्‍याल ने बताया कि एयरपोर्ट पर कोई भी वैकैंसी निकलती है तो उसकी सूचना ऑफिशियल वेबसाइट https://www.aai.aero/ पर जारी की जाती है। किसी अन्‍य वेबसाइट पर सूचना जारी होने या वहां पर फार्म भरने की बात की जा रही है तो उससे सावधान रहना चाहिए।

Cyber Criminals: ऑनलाइन ठगी के बदलते रूप, नटवर लाल से भी खतरनाक हैं 'नेटवर्क लाल’ Cyber Criminals: ऑनलाइन ठगी के बदलते रूप, नटवर लाल से भी खतरनाक हैं 'नेटवर्क लाल’

Comments
English summary
Do not trust Anganwadi Airport Railway jobs on Facebook and other platforms
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X