• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

उत्तराखंड में सीता का भव्य मंदिर बनाएगी सरकार, सीएम ने जनता से की ये अपील

|

पौड़ी। देश के सबसे चर्चित मामलों में से एक अयोध्या भूमि विवाद पर 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। फैसला आने के बाद अब अयोध्या में श्रीराम का भव्य मंदिर बनने का रास्ता साफ हो गया है। वहीं, अब उत्तराखंड सरकार पौड़ी जिले के फलस्वाड़ी गांव में माता सीता का भव्य मंदिर बनाएगी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा, दुनिया का हर हिंदु जो राम में विश्वास रखता है वो यहां जरूर आना चाहेगा। इसके लिए उन्होंने राज्य के हर घर और गांव से एक शिला, एक मुठ्ठी मिट्टी और 11 रुपए भेंट करने को कहा है।

कार्य योजना तैयार

कार्य योजना तैयार

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पौड़ी में आयोजित शरदोत्सव-2019 में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि जिले के कोट ब्लाक में फलस्वाड़ी गांव में स्थित सीता माता मंदिर को सीता सर्किट के रुप में विकसित करने की कार्ययोजना तैयार की गई है। यह मंदिर पौड़ी के विकास में मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि इस पर काम शुरू कर दिया गया है। बता दें कि सर्किट में फलस्वाड़ी के सीता माता मंदिर, कोटसाड़ा के महर्षि वाल्मीकि मंदिर, देवल गांव स्थित श्री लक्ष्मण मंदिर समूह, विदाकोटी व देवप्रयाग स्थित श्री रघुनाथ मंदिर को जोड़ने की योजना है।

पौराणिक कथाओं के अनुसार

पौराणिक कथाओं के अनुसार

पौराणिक और आध्यात्मिक मान्यता के अनुसार भगवान श्रीराम के माता सीता को त्यागने के बाद लक्ष्मण उन्हें विदाकोटी में छोड़ वापस अयोध्या लौट गए थे। कोटसाड़ा गांव स्थित महर्षि वाल्मीकि ने सीता माता को अपने आश्रम में रखा था। ऐसी मान्यता है कि सीता माता ने फलस्वाड़ी गांव में भू-समाधि ली थी। सनातन समय से फलस्वाड़ी, कोटसाड़ा व देवल गांव के ग्रामीण फलस्वाड़ी में उनके भू-समाधि दिवस को मंसार मेले के रुप में मनाते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रीराम, रामायण व माता सीता में आस्था रखने वालों के लिए फलस्वाड़ी गांव सबसे बड़ा धाम है।

होगा भव्य सीता मंदिर का निर्माण

होगा भव्य सीता मंदिर का निर्माण

फलस्वाड़ी में माता सीता का भव्य मंदिर बनाया जाएगा। मंदिर के लिए उन्होंने श्रद्धालुओं से डेढ़ फुट लंबी व छह इंच चौड़ी शिला, अपने खेत की एक मुट्ठी मिट्टी और 11 रुपए दान में मांगे हैं, जो मंदिर की भव्यता व दिव्यता को अलौकिक रुप देने में अहम योगदान होगा। वहीं, सीएम ने कहा, मंदिर निर्माण के लिए वह स्वयं देवप्रयाग से फलस्वाड़ी गांव तक पद यात्रा करेंगे। इस यात्रा में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी साथ होंगे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Uttarakhand government will be built Sita temple in Pauri
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X