• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

पंचतत्व में विलीन हुए शहीद राकेश डोभाल, 10 साल की बेटी ने दिया ये भावुक संदेश

|

ऋषिकेश। जम्मू-कश्मीर के बारामूला सेक्टर में शहीद हुई उत्तराखंड के लाल राकेश डोभाल को पूर्णानंद घाट पर सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई। राकेश डोभाल बीएसएफ की तोपखाना यूनिट में तैनात थे और शुक्रवार को पाकिस्तान की ओर से की गई गोलाबारी में शहीद हो गए थे। सोमवार की प्रात: आठ बजे बीएसएफ के जवान शहीद राकेश डोभाल के पार्थिव शरीर उनके गंगा नगर गणेश विहार स्थित आवास पर पहुंचा। शहीद का पार्थिव शरीर घर पहुंचते ही मां विमला देवी व पत्नी संतोषी बेसुध हो गई। तो वहीं, उनकी छोटी सी बेटी ने जिस तरह की हिम्मत दिखाई, वो न सिर्फ चर्चा का विषय बन गई बल्कि एक मिसाल भी है। छोटी सी बच्ची अपने पिता के अंतिम संस्कार के दौरान भावुक भी थी, आंखों में आंसू भी भरे हुई थी, लेकिन उसके मुंह से निकला 'वंदे मातरम'।

    पंचतत्व में विलीन हुए शहीद राकेश डोभाल, 10 साल की बेटी ने दिया ये भावुक संदेश

    shahadat Rakesh Dovals daughter gave emotional message

    'वंदे मातरम' का नारा लगाकर किया पिता को सैल्यूट

    शहीद राकेश डोभाल की 10 साल की बेटी गीता डोभाल ने 'वंदे मातरम' का नारा लगाकर पिता को सैल्यूट किया। इतना ही नहीं, गीता ने रोते हुए कहा कि वह बड़ी होकर सेना में भर्ती होगी और पाकिस्तान को नेस्तनाबूद कर देगी। अपने पिता के साथियों की मौजूदगी में मौली ने वंदे मातरम के नारे भी लगाए। इससे पहले गीता ने एक संदेश भी दिया जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। गीता ने कहा, 'मैं देश वासियों को यह संदेश देने चाहती हूं कि ये जितने फौजी पीछे खड़े यह हमारे देश की सुरक्षा करते है, अपनी जान जोखिम में डालकर हमारी रक्षा करते है। इसलिए मैं बोलना चाहूंगा, 'वंदे मातरम'।'

    शहीद राकेश डोभाल की अंतिम यात्रा में शहीद राकेश डोभाल अमर रहे के साथ ही पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे भी लगे। देश भक्ति गीतों की धुन पर शहीद की अंतिम यात्रा श्री भरत मंदिर इंटर कालेज से पुरानी चुंगी हरिद्वार मार्ग से ऋषिकेश, कैलाश गेट होते हुए पूर्णानंद घाट पहुंची। शहीद की अंतिम यात्रा में भारी जन सैलाब उमड़ पड़ा। अंतिम यात्रा मार्ग पर जगह-जगह शहीद को पुष्पवर्षा कर नागरिकों ने श्रद्धांजलि अर्पित की। बॉर्डर सुरक्षा फोर्स के जवानों ने उन्हें सलामी दी।

    पूर्णानंद घाट पर हुआ अंतिम संस्कार

    शहीद को विदाई देने के लिए ऋषिकेश के सैकड़ों लोग उमड़े और उनकी अंतिम यात्रा में शामिल हुए। पूर्णानंद घाट पर राजकीय सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया गया। चारों तरफ भारत माता की जय, राकेश डोभाल अमर रहे, पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लग रहे थे। सभी की आंखें नम थीं और दिल में शहीद की छोटी सी बेटी के लिए ढेर सारी दुआएं और प्यार था।

    ये भी पढ़ें:-बद्रीनाथ धाम पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ और सीएम त्रिवेंद्र रावत, पूजा अर्चना का दौर शुरू

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    shahadat Rakesh Doval's daughter gave emotional message
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X