• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

हरिद्वार कुंभ 2021: अखाड़ों और आश्रमों को सस्ती रेट पर राशन देगी 'तीरथ' सरकार

|

हरिद्वार: देवभूमि उत्तराखंड के हरिद्वार में पवित्र कुंभ स्नान शुरू हो गया है। 1 अप्रैल से शुरू हुए महाकुंभ में देशभर से श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगाने आ रहे हैं। इन सब के बीच सरकार की तरफ से मेले के अखाड़ों, आश्रमों सहित मठ-मंदिरों को सस्ती दरों पर राशन मुहैया कराया जाता है। ऐसे में तीरथ सरकार की ओर से करीब 18 सौ मीट्रिक टन राशन आवंटित किया गया है।

Haridwar Kumbh Mela 2021

दरअसल, कुंभ नगरी हरिद्वार में आस्था का ज्वार परवान पर है। इधर मेले के दौरान अखाड़ों आश्रमों और मठों में लगातार अन्नक्षेत्र और भंडारे आयोजित किए जाएंगे। इन भंडारों में साधु-संत के अलावा श्रद्धालु भी प्रसाद ग्रहण करते हैं। हजारों-लाखों लोगों के खाने के लिए बड़ी मात्रा में राशन जैसे की गेहूं, चावल चीनी सहित कई चीजों की आवश्यकता होती है, जिसके मद्देनजर सरकार की तरफ से भी कम रेट पर राशन मुहैया किया जाता है।

उत्तराखंड: हरिद्वार कुंभ मेला देखने आने वालों से ज्यादा किराया वसूलने वालों पर होगी कार्रवाई

जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी केके अग्रवाल के मुताबिक अगले सप्ताह तक आवंटित राशन आश्रमों को बांटना शुरू कर दिया जाएगा। वहीं अगर राशन की सस्ती दरों की बात करें तो 5 रुपये किलो गेहूं, 6 रुपए किलो चावल और 17 रुपये किलो चीनी दी जाती रही है, जिससे हरिद्वार में भंडारा चलाने वाली धार्मिक संस्थाओं पर आर्थिक बोझ थोड़ा कम हो सकें। खाद्य आपूर्ति अधिकारी ने ये भी जानकारी देते हुए बताया कि आश्रम और मंदिरों के अलावा कुंभ में शामिल होने आए श्रद्धालु भी सस्ती दाम में राशन लेकर खुद खाना बनाकर सकते हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Haridwar Kumbh Mela 2021 government will give ration affordable rates to akhadas ashrams
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X