नोटबंदी पर इलाहबाद के बुजुर्ग की कविता हुई वायरल, कह दिया है कुछ खास

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। नोटबंदी के फैसले को दो महीने से ज्यादा का वक्त हो गया है लेकिन ना तो इससे होने वाली परेशानियां कम हुई हैं और ना ही इसको लेकर गली-नुक्कड से लेकर सोशल मीडिया तक पर चर्चाएं कम हुई हैं। नोटबंदी को लेकर चुटकुले और कई तरह के दावे सोशल मीडिया पर लगातार देखने को मिल रहे हैं। अब एक बुजुर्ग भानु प्रताप सिंह की कविता सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

बुजुर्ग ने नोटबंदी पर सुनाई जोरदार कविता, हो रही वायरल

भानु प्रताप सिंह इलाहाबाद के रहने वाले हैं और राजनीति और सामाजिक कामों में भाग लेते रहते हैं। उनकी जो कविता सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, वो उन्होंने नोटबंदी और उसके बाद के घटनाक्रम पर कही है। कविता में वो मोदी सरकार की तारीफ और दूसरे दलों के नोटबंदी के विरोध की मजाक उड़ाते नजर आ रहे हैं। कविता 'वाह रे मोदी की सरकार' में उनका कविता का अंदाज और शानदार ढंग से प्रस्तुति भी इसके वायरल होने की वजह बन रही है। कविता में वो राहुल गांधी, सोनिया गांधी, ममता बनर्जी और मुलायम सिंह का भी जिक्र करते दिख रहे हैं। आप खुद देखिए उनकी ये कविता, जिसे विजय त्रिपाठी ने अपनी फेसबुक पर शेयर किया है।

 

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर की शाम को देश में चलन में मौजूद 1000 और 500 के नोटों पर पाबंदी का ऐलान कर दिया था। इसके बाद मौजूद करेंसी में से करीब 85 फीसदी करेंसी अमान्य हो गई जिससे लोगों को भंयकर परेशानियों को सामना करना पड़ रहा है। पिछले दो महीने में 100 से ज्यादा लोग मारे गए हैं। जबकि लाखों की संख्या में नौकरियां गई हैं। विपक्ष इस पर लागातर पीएम को घेर रहा है। एक तरफ सरकार नोटबंदी को देशहित में लिया गया फैसला कह रही है तो दूसरी ओर विपक्ष  इस गरीबों की कमर तोड़ने वाला कह रहा है। दोनों ओर से जमकर बयानबाजी भी हो रही है। 

पढ़ें- नोटबंदी पर RBI को नहीं मिला संतोषजनक जवाब तो पीएम मोदी को तलब करेगी पीएसी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
old man bhanu pratap singh poem on demonetisation goes viral
Please Wait while comments are loading...