इलाहाबाद: लव स्टोरी में था ट्रायंगल इसलिए पत्थरों से कूंच दिया पति का सिर

Posted By: Prashant
Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। इलाहाबाद के शंकरगढ़ गढ़वा के जंगलों में मुन्ना लाल की लाश मिलने से हड़कंप मच गया था। हालांकि पुलिस ने मामले के कई दिन बीत जाने के बाद हत्या की गुत्थी सुलझा ली है। पुलिस के मुताबिक हत्या पत्नी ने अपने आशिक और उसके दोस्तों के संग मिलकर की थी। प्यार में रोड़ा बने पति को जंगल में ले जाकर पत्थरों से कूंच डाला गया था। मुन्ना लाल का शव क्षत-विक्षत अवस्था में मिला था और बड़ी ही निर्दयता से मुन्ना लाल की हत्या की गई थी। हत्या गुत्थी सुलझाते हुए पुलिस ने मुन्ना लाल की पत्नी कलावती उसके प्रेमी सूर्यमणि व मित्र राजेन्द्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

कैसे खुला राज

कैसे खुला राज

पुलिस के अनुसार हत्या की गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस को जब मुन्ना लाल की पत्नी कलावती के प्रेम संबंधों की जानकारी हुई तो सारी बिखरी कड़ियां खुद से ही जुड़ने लगी। परिजनों से मिली जानकारी के बाद गांव वालों से पुलिस ने पूछताछ की लव स्टोरी में ट्रायंगल की बात सामने आई। आश्चर्यजनक तथ्य यह था कि कलावती का आशिक कोई और नहीं बल्कि उसका समधी सूर्यमणि था। सूर्यमणि को उसके घर से उठाया गया, पहले तो सूर्यमणि इस बात को मानने को तैयार ही नहीं था कि वह हत्या में शामिल था, लेकिन जब पुलिस ने अपने डिग्री दिखाई तो सब कुछ सामने आ गया।

अवैध प्रेम संबंधों के खिलाफ था पति

अवैध प्रेम संबंधों के खिलाफ था पति

पुलिस का मानना है कि मुन्नालाल को जब कलावती के प्रेम संबंधों की जानकारी हुई तो उसने कलावती को पहले जमकर फटकार लगाई और कई बार पीटा भी। हालांकि मुन्नालाल ने यह बात अपने समधी सूर्यमणि पर जाहिर नहीं होने दी कि वह कलावती और उसके बीच चल रहे प्रेम संबंधों को जान चुका है। मुन्ना लाल पत्नी को ही दोषी मानता था और अपने संबंध नहीं खराब करना चाह रहा था, लेकिन कलावती ने मुन्ना लाल की प्रताड़ना की पूरी जानकारी सूर्यमणि को दे दी और कहा कि अगर वह उससे संबंध रखना चाहता है तो मुन्ना लाल को रास्ते से हटाना होगा इसके बाद प्लान बना और मुन्ना लाल को रास्ते से हटा दिया गया।

 क्या है हत्या की कहानी

क्या है हत्या की कहानी

शंकरगढ़ थाना क्षेत्र हुई हुई हत्या का खुलासा करते हुए थानाध्यक्ष अमित कुमार मिश्रा ने बताया कि हत्या 24 सितंबर को हुई थी और घटना को पत्नी व सूर्यमणि ने प्लान किया हुआ था। कलावती ने अपनी बीमारी का बहाना बनाया और हर रोज बेहोशी का बहाना बनाकर घर में लेट जाती। परेशान मुन्ना लाल उसे इलाज के लिए शंकरगढ़ में बंगाली डॉक्टर के पास ले गया। जहां पहले से ही मुन्ना लाल का समधी सूर्यमणि व उसका दोस्त राजेंद्र निवासी तिल्हापुर मोड़ थाना पिपरी कौशांबी भी आए हुए थे।

धोखे से मार दिया

धोखे से मार दिया

उन लोगों ने सलाह दी कि यह उपरी बीमारी है। भूत-प्रेत का चक्कर है नीबी इलाके में एक ओझा बैठता है। उसकी झाड़ फूंक से इस तरह की बीमारी दूर हो जाती है । पत्नी की बीमारी से परेशान मुन्नालाल, सूर्यमणि की बातों में आ गया और पत्नी को लेकर उसके साथ चल पड़ा। गढ़वा जंगल में गुजरने के दौरान सूर्यमणि लघुशंका के लिये रुका तो मुन्नालाल भी वही खड़ा हुआ। अचानक पीछे से मुन्नालाल पर हमला हुआ और वह अचेत होकर जमीन पर गिरा पडा। मुन्नालाल के सिर पर ताबड़तोड़ पत्थरों से वार कर उसकी हत्या कर दी गई और उसका सिर बुरी तरीके से कूंच दिया गया। फिलहाल अब सभी आरोपी जेल में अपने किए की सजा भुगतेंगे।

ये भी पढ़ें- VIDEO: प्रेमी ने 6 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, शादी की बात की तो किया कुछ ऐसा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
allahabad wife boyfriend killed her husband
Please Wait while comments are loading...

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.