• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

इलाहाबाद विवि के छात्रों से ब्रिटिश अधिकारियों ने बिना अनुमति की मुलाकात, प्रशासन ने केंद्र को लिखा पत्र

Google Oneindia News

प्रयागराज,09 सितंबर। इलाहाबाद विवि में छात्र इन दिनों फीस में बढ़ोतरी को लेकर विरोध कर रहे हैं। लेकिन इसी बीच दो ब्रिटिश अधिकारियों के परिसर में छात्रों से मुलाकात पर विवाद खड़ा हो गया है। इसको लेकर इलाहाबाद विश्वविद्यालय ने आपत्ति जताई है। विवि की तरफ से कहा कि ब्रिटिश अधिकारियों ने प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया है। इस संबंध में विश्वविद्यालय की प्रवक्ता जया कपूर ने शुक्रवार को कहा कि केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय को प्रयागराज जिला प्रशासन और संभागीय आयुक्त को मामले की जानकारी दे दी गई है।

allahabad university

विवि प्रवक्ता जया कपूर के मुताबिक ब्रिटिश उच्चायोग के दो अधिकारियों ने 29 अगस्त को विश्वविद्यालय प्रशासन को सूचित किए बिना छात्रों से मुलाकात की और उनसे ब्रिटिश सरकार द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं का लाभ उठाने का आग्रह किया। इसके अलावा अधिकारियों फीस वृद्धि को लेकर आंदोलन कर रहे छात्रों से भी मुलाकात की।

वहीं, मामले में प्रदर्शन कर रहे छात्रों में से एक अजय सिंह सम्राट ने पीटीआई को बताया कि 29 अगस्त को छात्र संघ के एक पूर्व अध्यक्ष, ब्रिटिश उच्चायोग के दो अधिकारियों को प्रदर्शनकारियों से मिलाने लेकर आए थे। छात्र अजय सिंह के मुताबिक ब्रिटिश उच्चायोग में राजनीतिक और द्विपक्षीय मामलों के प्रमुख रिचर्ड बार्लो और वरिष्ठ राजनीतिक सलाहकार भावना विज ने छात्रों से मुलाकात की और उनकी समस्याओं के बारे में जानकारी ली।

छात्र आज सिंह के मुताबिक दोनों अधिकारियों ने छात्रों को ब्रिटिश उच्चायोग द्वारा आयोजित प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए प्रेरित किया। साथ ही अधिकारियों ने कहा कि जो छात्र इस प्रतियोगिता में जीतेगा उसे एक दिन के लिए उच्चायुक्त बनाया जाएगा।

इधर, विवि प्रकक्ता जया कपूर से जब पूछा गया कि क्या आप ब्रिटिश उच्चायुक्त की अधिकारियों से मिली थी, उन्होंने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी समाचार पत्रों से लगी है। उन्होंने कहा कहा ब्रिटिश उच्चायुक्त के अधिकारियों ने विवि आने के लिए ना तो यूनिवर्सिटी के अधिकारियों से अनुमति ली थी और ना ही फोन पर बात किया था। कपूर के मुताबिक उच्चायुक्त की हैसियत एक राजनयिक की है। ऐसे में उन्हें कुलपति से मिलना चाहिए था। उन्होंने प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया और सीधे छात्रों से मिले।

आपको बता दें कि पूरब के ऑक्सफोर्ड के नाम से प्रसिद्ध इलाहाबाद विवि के छात्र'संयुक्त संघर्ष समिति' के बैनर तले फीस वृद्धि का विरोध कर रहे हैं। आपको बता दें कि विवि की तरफ से अंडर ग्रेजुएट कोर्सेज में करीब 400 गुना फीस की बढ़ोतरी की गई है।

ये भी पढ़ें- डाॅ. गौर विवि की उपलब्धिः राष्ट्रीय मंच पर फाॅर्मेसी विभाग के चार शिक्षक एक साथ सम्मानित

Comments
English summary
Allahabad University British High Commission meet students controversy begins
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X