दिवाली की नेग मांगने आए किन्नरों ने व्यापारी को पीटकर लूटा

Subscribe to Oneindia Hindi

मैनपुरी। एक जमाना था जब किन्नर त्योहारों पर नेग मांगने जाते थे तो गाना गाते थे नाचते थे और व्यापारी खुश होकर जो देता था उसे रख लेते थे लेकिन अब किन्नरों ने नेग मांगने के तरीके में बदलाव कर दिया है। अब किन्नर नेग मांगते नहीं बल्कि वसूली करते है। ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश के जनपद मैनपुरी में देखने को मिला है जहां किन्नरों ने एक व्यापारी की दुकान पर उनके मन के मुताबिक नेग न देने पर जमकर आतंक मचाया। बाद में व्यापारी के साथ मारपीट करते हुए उसकी जेब में रखे 500 रुपये भी ले गए।

A shop keeper beaten and looted by Transgenders in Mainpuri

पूरा मामला थाना कोतवाली क्षेत्र के दीवानी रोड कालोनी का है यंहा के निवासी धर्मेंद्र दुबे अपने मकान के बाहर ही किराने की दुकान चलाता है। धर्मेंद्र की दुकान पर आधा दर्जन से अधिक किन्नर आये और दीपावली के खर्चे की मांग की। धर्मेंद्र ने 50 रुपये दिये जबकि किन्नर 100 रुपये की मांग कर रहे थे। इसी बीच किन्नरों ने धर्मेंद्र की दुकान पर बबाल करना शुरू कर दिया।

धर्मेंद्र ने जब विरोध किया तो पहले तो उसकी दुकान का सारा सामान फेंक दिया। बाद में उसके साथ मारपीट करते हुए उसकी जेब रखे 500 रुपए भी निकाल ले गए। घटना की सूचना पुलिस को हुई तो तत्काल मौके पर पंहुची। पूरे मामले की जानकारी पुलिस ने जुटाई। पीड़ित धर्मेंद्र ने बताया कि किन्नर नेग मांगने नहीं दंबगई करने आये थे और मना करने पर उन्होंने मारपीट की और जान से मारने की धमकी दे गए।

Read Also: घर मे घुसकर विवाहिता से गैंगरेप करने वाले दो दरिंदे गिरफ्तार

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A shop keeper beaten and looted by Transgenders in Mainpuri.

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.